uttarakhand investers summit dehradun 2018 latest news

पहाड़ में भीषण अग्निकांड, 46 घर जलकर राख, 50 से ज्यादा परिवार बेघर, जिंदा जले 200 मवेशी

पहाड़ में भीषण अग्निकांड, 46 घर जलकर राख, 50 से ज्यादा परिवार बेघर, जिंदा जले 200 मवेशी

Fire in sawani village of uttarakhand  - उत्तराखंड न्यूज, अग्निकांड, उत्तरकाशी ,

उत्तराखँड में एक ऐसा अग्निकांड हुआ है कि हर कोई दंग रह गया। इस अग्निकांड का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि करीब 46 घर जलकर खाक हो गए। 50 से ज्यादा परिवार सड़क पर आ गए हैं और एक अदद छत तलाश रहे हैं। 200 से ज्यादा मवेशी जिंदा जले। हर तरफ हाहाकार मचा है। हमं बात कर रहे हैं उत्तरकाशी जिले के मोरी ब्लॉक में स्थित सावणी गांव की। यहां बीती रात इतना भयानक अग्निकांड हुआ कि हर तरफ कोहराम मच गया। सावणी गांव का ज्यादातर हिस्सा आग की चपेट में आ गया। बताया जा रहा है कि इस आग में 46 घर जलकर राख हो गए हैं। मौके पर एसडीआरएफ, पुलिस और प्रशासन की टीमों को भेजा गया है। सभी टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। ये इलाका बेहद ही दूरस्थ है और इस वजह से यहां पहुंचने में टीमों को देरी हो गई।

यह भी पढें - Video: उत्तराखंड में दर्दनाक हादसा, गाड़ियों से टकराया बेकाबू ट्रक, 2 लोगों की मौत, 5 घायल
यह भी पढें - उत्तराखंड में फिर भड़की आग, फिर आफत में फंसे पहाड़ के लोग
इस आग की भयावहता का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि इसमें 50 से ज्यादा परिवारों के सिर से छत छिन गई है। इसके अलावा गांव में दो सौ से ज्यादा मवेशियों के जिंदा जलने की खबर है। बताया जा रहा है कि ये आग रात के करीब डेढ़ बजे लगी। आलम ये है कि इस गांव में अब सिर्फ 4 घर ही सुरक्षित बचे हैं। इस गांव में ज्यादातर घर लकड़ी के थे। इसलिए आग पर काबू नहीं पाया जा सकता। एक के बाद एक घर में आग फैलती गई और धीरे धीरे आग ने विकराल रूप ले लिया। सावणी गांव उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से करीब 200 किमी दूरी पर स्थित है। ये हिमाचल प्रदेश की सीमा से सटा हुआ गांव है। यहां तक पहुंचने के लिए अब तक सड़क नहीं बनी है। सिर्फ जखोल गांव तक ही सड़क है। बताया जा रहा है कि जैसे ही गांव में आग लगी तो ग्रामीण घरों से बाहर निकल आए।

यह भी पढें - Video: देहरादून में बीच सड़क पर आग का गोला बनी कार, फिर ऐसे बची 4 लोगों की जान
यह भी पढें - देवभूमि में एक और दर्दनाक हादसा, खाई में गिरी बोलेरो, 5 लोगों की मौत
मामले की गंभीरता को देखते हुए बच्चों और बुजुर्गों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया। आग ने विकराल रूप लिया तो गांव के लोग अपने बच्चों के साथ खेतों की तरफ भाग गए। इसके बाद मवेशियों को भी बचाने की कोशिश की गई। बताया जा रहा है कि लोख कोशिशों के बाद भी करीब दो सौ मवेशी आग की चपेट में आ गए। देवदार की लड़कियां होने की वजह से आग बुझाने में ग्रामीण नाकाम रहे। इसके बाद रात करीब ढाई बजे प्रशासन को इस बारे में खबर की गई। प्रशासन और पुलिस की टीम सावणी गांव के लिए रवाना हुई। उत्तरकाशी के जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने बताया कि राहत और बचाव टीमों को मौके पर भेजा गया है। इतना जरूर है कि इस भयानक आग के चलते गांव वालों को बड़ा नुकसान हुआ है। देखना है कि आगे सरकार इन परिवारों को राहत पहुंचाने के लिए क्या काम करती है।


Uttarakhand News: Fire in sawani village of uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें