Video: पहाड़ों में महाशिवरात्रि से पहले गजब नजारा, बर्फ से बना 15 फीट का शिवलिंग

Video: पहाड़ों में महाशिवरात्रि से पहले गजब नजारा, बर्फ से बना 15 फीट का शिवलिंग

Snow shivling increasing in himachal  - महाशिवरात्रि, शिवलिंग, अंजनी महादेव,उत्तराखंड,

कहते हैं भारत में आपको कदम कदम पर कुछ ऐसी अद्भुत चीजें दिखाई देंगी, जिनपर पहली बार में भरोसा करना काफी मु्श्किल होता है। लेकिन 21 वीं सदी में भी अगर ऐसे चमत्कार लोगों की आँखों के सामने हों, तो इसे क्या कहेंगे ? खास तौर पर महाशिवरात्रि नजदीक है और ऐसे वक्त में शिवलिंग का आकार लगातार बढ़ने से हर कोई हैरान है। हिमाचल के कुल्लू में मौजूद अंजनी महादेव का शिवलिंग लगातार आकार में बढ़ता जा रहा है। आपको बता दें कि पर्यटक संथल सोलंग के पास अंजनी महादेव का मंदिर है। मान्यता है कि यहां माता अंजनी ने पुत्र प्राप्ति के लिए तपस्या की थी और उनकी तपस्या से खुश होकर भगवान शिव प्रकट हुए थे। तभी से लेकर यहां पर ये बर्फ का शिवलिंग बनता है। आजकल तापमान यहां शून्य से नीचे चला गया है। इसके बाद भी लोग हर हर महादेव करे जयकारों के साथ इस मंदिर में भोले बाबा के दर्शन कर रहे हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड के ‘काशी विश्वनाथ’, यहां आप नहीं गए, तो महादेव खुद बुलाते हैं !
यह भी पढें - उत्तराखंड के सिद्धबली धाम के बारे में आप ये बात जानेंगे, तो हनुमान जी की भक्ति में खो जाएंगे
बताया जाता है कि इस मंदिर में नियमित रूप से प्राकृतिक झरना गिरता है। ये झरना शिवलिंग के ठीक ऊपर गिरता है। आजकर सोलंग में तापमान माइनस से भी नीचे गया हुआ है। ऐसे में पानी शिवलिंग पर गिरते ही बर्फ में तब्दील हो जाता है। इस वजह से शिवलिंग के आकार में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। सोलंग पहुंचने वाले लोग इस मंदिर के दर्शन करना नहीं भूलते। आपको बता दें कि सोलंग की ख्याति देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी है। सर्दियों में यहां लाखों पर्यटकों की भीड़ पहुंच जाती है और बर्फबारी का आनंद लेती है। इस बीच लोग इस शिवलिंग के दर्शन करना नहीं भूलते।अंजनी महादेव में तापमान शून्य से नीचे होते ही शिवलिंग के आकार में तेजी से बढ़ोतरी होना शुरू हो गई है। ये आकार लगातार बढ़ता जा रहा है। हालांकि शिवलिंग का आकार पहले से ही बनना शुरू हो गया था।

यह भी पढें - Video: देवभूमि में यहां मौजूद है महादेव का शक्ति पुंज, वैज्ञानिकों की रिसर्च में बड़ी बातें !
यह भी पढें - पाताल भुवनेश्वर, जहां प्रलय के दिन का राज़ छिपा है, गणेश जी का कटा सिर भी यहीं है !
अब इसके आकार में तेजी से बढ़ेतरी हो रही है। शिवलिंग पर नियमित रूप से प्राकृतिक झरना गिर रहा है, जो गिरते ही बर्फ बनकर शिवलिंग का रूप धारण कर रहा है। बताया जा रहा है कि यहां पारा जितना माइनस में जाएगा तो शिवलिंग का आकार उतनी ही तेजी से बढ़ता जाएगा। देखिए

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: Snow shivling increasing in himachal

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें