उत्तराखंड के छोरे ने रचा इतिहास, 2018 की पहली चैंपियनशिप में जीता देश का पहला गोल्ड मेडल

उत्तराखंड के छोरे ने रचा इतिहास, 2018 की पहली चैंपियनशिप में जीता देश का पहला गोल्ड मेडल

Anu kumar won first gold madel of khelo india championship - उत्तराखंड न्यूज, अनु कुमार ,उत्तराखंड,

उत्तराखंड का सपूत देवभूमि के लिए एक शानदार खबर लेकर आया है। खेलो इंडिया नेशनल स्कूल गेम्स में उत्तराखंड की स्वर्णिम शुरुआत हुई है। स्पोर्ट्स कॉलेज के अनु कुमार ने साल की शुरुआत में ही इतिहास रच दिया गै। अनु कुमार ने खेलो इंडिया स्कूल गेम्स का पहला गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में इस चैंपियनशिप का आयोजन किया जा रहा है। अनु कुमार के नाम इस चैंपियनशिप में पहला गोल्ड मेडल जीतने का भी रिकॉर्ड है। 1500 मीटर रेस में अनु ने तमाम प्रतिद्वंदियों को पीछे छोड़ दिया। 1500 मीटर के फाइनल में उन्होंने 4:04:77 मिनट का बेस्ट टाइम निकाला और स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। इसके साथ ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अनु कुमार को बधाई दी है। उनका कहना है कि इस प्रतियोगिता में उत्तराखण्ड को और भी सफलताएं मिलेगी।

यह भी पढें - उत्तराखंड के लाल ने न्यूजीलैंड में जीता गोल्ड मेडल, वर्ल्ड चैंपियनशिप में दिखाई पहाड़ी पावर !
यह भी पढें - उत्तराखंड के कमलेश नगरकोटि का जलवा, IPL में KKR ने खरीदा, कीमत आपके होश उड़ा देगी!
अनु कुमार ने ऐसा पहली बार नहीं किया है, वो इससे पहले भी अपने हुनर का परिचय दुनिया को दे चुके हैं। स्पोर्ट्स कॉलेज रायपुर में अनू कुमार प्रैक्टिस करते हैं। उन्होंने फ्रांस में हुए वर्ल्ड स्कूल गेम्स में 800 मीटर रेस में सिल्वर मेडल जीता था। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि इस तरह के आयोजन से खेलों की संस्कृति को बढ़ावा मिल रहा है। इसके साथ ही नई प्रतिभाओं को तराशने को ये एक बेहतरीन मंच है। अन्नू कुमार के पिता गैस एजेंसी में डिलिवरी मैन हैं। अन्नू हरिद्वार के पथरी क्षेत्र के धनपुरा गांव के एथलीट हैं। आप समझ सकते हैं कि इस लेवल पर आने के लिए अनु को किस तरह से तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ा होगा। फ्रांस में तो अनु ने ऐसा खेल दिखाया था कि लोग उन्हें ओलंपिक चैंपियन करार देने लगे थे। इसके पीछे एक्सपर्ट्स ने कुछ खास बातें भी बताई हैं।

यह भी पढें - IPL नीलामी में उत्तराखंड का जलवा, सबसे मंहगे साबित हुए ये दो पहाड़ी खिलाड़ी
यह भी पढें - जय उत्तराखंड: बेटी ने जीता गोल्ड, तो बेटे ने जीता सिल्वर मेडल, दुनिया ने देखा देवभूमि का दम
एक्सपर्ट्स का कहना है कि अनु ने फ्रांस में 800 मीटर रेस में बेस्ट टाइम निकाला था। इस वक्त 800 मीटर रेस में वर्ल्ड रिकॉर्ड डेविड रुदिशा के नाम है। डेविड रुदिशा ने 1 मिनट 40 सेकंड में 800 मीटर रेस में वर्ल्ड रिकॉर्ड तैयार किया था।अन्नू और डेविड रुदिशा के रिकॉर्ड पर नजर डालें तो अन्नू डेविड रुदिशा से सिर्फ 13 सेकंड पीछे हैं। अभी अन्नू इस उम्र के हैं कि डेविड रुदिशा के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ सकते हैं।


Uttarakhand News: Anu kumar won first gold madel of khelo india championship

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें