तोहफा : भारतीय सेना में जाने वाले राज्य के युवाओं को बतौर प्रोत्साहन मिलेंगे 50 हजार

तोहफा : भारतीय सेना में जाने वाले राज्य के युवाओं को बतौर प्रोत्साहन मिलेंगे 50 हजार

50000 grant for who join Indian army - भारतीय सेना, IMA, उत्तराखण्ड न्यूज़,उत्तराखंड,

उत्तराखण्ड की भाजपा सरकार ने राज्य की पिछली कांग्रेस सरकार के फैसले को पलटते हुए प्रदेश को युवाओं को खुश होने का एक और मौका दे दिया है। प्रदेश सरकार की ओर से भारतीय सेना में भागीदारी निभाने को एनडीए और आइएमए में जाने वाले राज्य के युवाओं को बतौर प्रोत्साहन 50000 रुपये की राशि अब दोबारा से मिलने लगेगी। प्रदेश की पिछली सरकार, जो कि कांग्रेस की थी, द्वारा लगायी गयी थी रोक को हटा दिया गया है। इससे एन.डी.ए. और आइ.एम.ए. के छात्रों और उनके अभिभावकों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

यह भी पढें - पहाड़ के जांबाज को इंडियन आर्मी में मिली बड़ी जिम्मेदारी, आतंकवादियों के बुरे दिन शुरू
यह भी पढें - कश्मीर में गढ़वाल राइफल के जवानों पर केस दर्ज, पत्थरबाजों की आड़ में घटिया राजनीति !
वर्तमान वित्तीय वर्ष समेत पिछले तीन वर्षों में यह धनराशि जारी नहीं की गई थी। अब सत्ता पर दोबारा काबिज हुई भारतीय जनता पार्टी सरकार ने कांग्रेस शासनकाल में लगाई गई रोक हटा दी है। पिछली सरकार की ओर से पिछली भारतीय जनता पार्टी सरकार के पलटे गए फैसलों को नई सरकार दोबारा से लागू करने पर खास जोर दे रही है। इस कड़ी में उक्त फैसले को लागू किर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा डॉ रणबीर सिंह ने आदेश जारी कर बीते तीन वर्षों से रुकी पड़ी धनराशि अवमुक्त कर दी है। वर्ष 2015-16, 2016-17 और 2017-18 के लिए एनडीए और आइएमए के 140 छात्रों को डोनेशन राशि के 70 लाख रुपये जारी किए गए हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड के जांबाज मेजर को मिला कीर्ति चक्र, साहस की ये कहानी आपके रौंगटे खड़े कर देगी
यह भी पढें - उत्तराखंड के सपूत मेजर कमलेश को भी मनाना था गणतंत्र दिवस, देश के लिए शहीद हो गए !
भारतीय जनता पार्टी की पिछली सेवानिवृत्त मेजर जनरल भुवनचंद्र खंडूड़ी सरकार ने वर्ष 2011-12 में एन.डी.ए. और आइ.एम.ए. में जाने के लिए उत्तराखण्ड राज्य के युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए महत्वपूर्ण फैसला लिया था। इसके तहत एन.डी.ए. और आइ.एम.ए. में चयनित युवाओं को डोनेशन के तौर पर 50000 रुपये दिए जाते हैं। इस फैसले पर पिछली भाजपा सरकार ने अमल किया तो उसके बाद प्रदेश की सत्ता पर काबिज हुई कांग्रेस सरकार ने भी इस योजना को दो वर्षों यानी वर्ष 2014-15 तक जारी रखा था, लेकिन इसके बाद एनडीए और आइएमए में चयनित युवाओं को प्रोत्साहन राशि देने पर रोक लगा दी गई थी।


Uttarakhand News: 50000 grant for who join Indian army

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें