उत्तराखंड के ‘‘रावत’’ बेमिसाल हैं, देश और दुनिया में जमाई अपनी धाक

उत्तराखंड के ‘‘रावत’’ बेमिसाल हैं, देश और दुनिया में जमाई अपनी धाक

Rawat of uttarakhand reaching new milestone  - उत्तराखंड न्यूज, रावत ,उत्तराखंड,, बीजेपी

ये बात आज किसी से छुपी नहीं है कि उत्तराखंड के सपूतों का जलवा दुनिया भर में कायम है। कई ऐसे बड़े पद हैं, जहां रावत लोग आसीन हैं। आपको पता ही होगा कि उत्तराखंड के एक और रावत यानी ओम प्रकाश रावत को भारत का मुख्य चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया है। ओम प्रकाश रावत उत्तरकाशी के चिन्यालीसौड़ से संबंध रखते हैं। अगर आप यहां एक लिस्ट तैयार करेंगे, तो देखेंगे कि पिछले काफी वक्त से रावतों का जलवा हर क्षेत्र में नजर आ रहा है। राजनीति, प्रशासन, भारतीय सेना, हर क्षेत्र में रावतों ने एक अलग ही मिसाल कायम की है। चलिए अब तक किस तरह रावतों ने खुद को कद्दावर साबित किया है, जरा ये भी जान लेते हैं। जसवंत सिंह रावत, एक अमर सेनानी, जो अकेले ही 300 चीनी सैनिकों पर भारी पड़े थे। आज भी उनकी सेवा में 5 जवान लगे रहते हैं। इस बलिदान की गाथाएं हर फौजी को बताई जाती हैं।

यह भी पढें - गढ़वाल राइफल के वीर सूबेदार, योगी आदित्यनाथ के छोटे भाई, बॉर्डर पर तैनात
यह भी पढें - ‘रौतेला’ कौन हैं ? जानिए उत्तराखंड के इन राजपूतों का गौरवशाली इतिहास
इसी तरह हमारे उत्तराखंड में कभी पंडित नैन सिंह रावत जैसे बुद्धि-बल वाले लोग भी थे। उन्होने अंग्रेजों के लिये हिमालय के क्षेत्रों की खोजबीन की। अब आज के रावतों की बात करते हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इससे पहले बीजेपी में कई पदों पर रहे हैं। त्रिवेंद्र को पीएम मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का खास कहा जाता है। इसके अलावा भारतीय थल सेना की कमान संभाले हुए बिपिन रावत के बारे में तो कौन नहीं जानता। बीते साल सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जनरल बिपिन रावत सुर्खियों में रहे। अगला नंबर आता है प्रेमपाल सिंह रावत का। प्रेमपाल सिंह रावत देश ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी आध्यात्म के क्षेत्र में उत्तराखंड का नाम रोशन कर रहे हैं। प्रेमपाल सिंह रावत ने 4 साल की उम्र से ही प्रवचन शुरू कर दिया था। आज वो शांति का संदेश पूरी दुनिया में फैला रहे हैं।

यह भी पढें - ‘रावत’ कौन हैं ? जानिए उत्तराखंड के इन राजपूतों की कहानी, गौरवशाली है ये इतिहास
यह भी पढें - ‘बिष्ट’ कौन हैं ? जानिए उत्तराखंड के इन राजपूतों की कहानी, गौरवशाली है ये इतिहास !
अब बात नितेंद्र सिंह रावत और मुकेश रावत की करते हैं। नितेन्द्र को रियो-डी जनेरियो में 2016 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, तो दूसरी तरफ मुकेश रावत इस बार ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। अब बात ओम प्रकाश रावत की करते हैं। उत्तराखंड से ही देश को अगला चुनाव आयुक्त मिलने जा रहा है। अब बात दीपक रावत की करते हैं। देश में सबसे ज्यादा सर्च किए जाने वाला अगर कोई जिलाधिकारी है, तो वो हैं दीपक रावत। हरिद्वार के डीएम दीपक रावत ने अपने कामों से सभी का दिल जीता है। इसके अलावा भी उत्तराखंड की राजनीति में अहम पदों पर रावत विराजमान हैं। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज यानी सतपाल सिंह रावत जाने-माने आध्यात्मिक गुरू भी हैं। हरक सिंह रावत त्रिवेंद्र सरकार में वन मंत्री हैं। धन सिंह रावत उच्च शिक्षा मंत्री का कार्यभार संभाल रहे हैं।


Uttarakhand News: Rawat of uttarakhand reaching new milestone

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें