uttarakhand investers summit dehradun 2018 latest news

उत्तराखंड के पौड़ी में हंगामा, हाथ में जहर लेकर छत पर चढ़ी महिलाएं, प्रशासन में हड़कंप

उत्तराखंड के पौड़ी में हंगामा, हाथ में जहर लेकर छत पर चढ़ी महिलाएं, प्रशासन में हड़कंप

Pauri women carrying poison protest in roof - उत्तराखंड न्यूज, पौड़ी गढ़वाल,

पौड़ी से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। राज्य आंदोलनकारी लिस्ट अब तक जारी ना किए जाने से नाराज चार महिलाओं ने हड़कंप मचा दिया। ये महिलाएं हाथ में जहर की शीशी लेकर कलेक्ट्रेट के निर्माणाधीन भवन की छत पर चढ़ गईं। उन्होंने इसी दौरान एक मांग की। 30 दिसंबर को चयन समिति द्वारा प्रस्तुत किए गए 824 आवेदकों को जल्द से जल्द आंदोलनकारी सूची में शामिल किया जाए। इसके बाद तो हंगामा मच गया। एक बड़ी न्यूज एजेंसी का कहना है कि एक महिला के हाथ में जहर की शीशी थी। इसके बाद हंगामा मचा तो एसडीएम मौके पर पहुंचे। एसडीएम और बताया कि डीएम अभी कोटद्वार में हैं। उन्होंने कहा कि मंगलवार को डीएम से सीधे बातचीत कर सकती हैं। इस आश्वासन के बाद सभी महिलाएं छत से नीचे उतर आई। दरअसल 30 दिसंबर को राज्य आंदोलन चयन समिति ने ये आवेदन प्रस्तुत किए थे।

यह भी पढें - Video: देहरादून में मचा हड़कंप, बीजेपी दफ्तर में जहर खाकर पहुंचा कारोबारी
यह भी पढें - उत्तराखंड में हाई अलर्ट, सुरक्षा एजेंसियों ने किया आतंकियों के खौफनाक प्लान का खुलासा
डीएम को 824 आवेदकों के आवेदन दिए गए थे। बताया जा रहा है कि उस दौरान डीएम ने स्वीकृति नहीं दी। इसके बाद से इस मामले को लेकर गहमा गहमी शुरु हो गई थी। बताया जाता है कि उस दौरान भी एक महिला ऑफिस के निर्माणाधीन भवन की छत पर चढ़ गई। उस दौरान डीएम ने आंदोलनकारियों को भरोसा दिया था कि वो सभी आवेदनों की जांच पड़ताल करेंगे और इसके बाद लिस्ट जारी कर देंगे। अब सात दिन बाद भी प्रशासन द्वारा वो लिस्ट जारी नहीं की गई। इस वजह से आंदोलनकारियों ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जो महिलाएं छत पर चढ़ीं, उनका नाम नागी देवी, शकुंतला देवी, भगवती और सुषमा देवी बताया जा रहा है । हाथ में जहर की शीशी लेकर ये महिलाएं निर्माणाधीन कलेक्ट्रेट की छत पर चढ़ गई। इसके बाद महिलाओं ने चेतावनी दी कि जब तक 824 आवेदन दर्ज नहीं किए जाते, वो छत से नहीं उतरेंगी।

यह भी पढें - उत्तराखण्ड आन्दोलन से मिला राज्य ... क्या "गैरसैण राजधानी" आन्दोलन हो रहा जरूरी ?
यह भी पढें - अग्निपथ पर उत्तराखंड के तेज तर्रार डीएम दीपक रावत, कोर्ट से मिला एक और झटका !
इसी दौरान एसडीएम किशन सिंह नेगी वहां पहुंचे। उन्होंने सभी को बताया कि डीएम अभी कोटद्वार में हैं और मंगलवार को वो आंदोलनकारियों से बात करेंगे। इस आश्वासन के बाद चारों महिलाएं छत से नीचे उतर आई। मुख्यालय में राज्य आंदोलनकारियों ने प्रशासन को मुहैया कराए आवेदनों के चिह्नीकरण के मामले में खूब गहमा-गहमी देखी गई। तय कार्यक्रम के तहत आंदोलनकारी सुबह कलक्ट्रेट के बाहर जमा हुए और नारेबाजी करने लगे। इस बीच चार महिलाएं निर्माणाधीन कलक्ट्रेट भवन की छत पर चढ़ी तो प्रशासन मे भी हड़कंप मच गया। इस मामले में डीएम ने पहले भी शासनादेश के अनुरुप ही सलेक्शन की बात कही थी। इस बीच कुछ लोगों ने आवेदनों पर बहुत कम लोगों के चिह्नीकरण पर गुस्सा जताया। अब देखना है कि मंगलवार को इस मामले में क्या खबर निकलकर सामने आती है।


Uttarakhand News: Pauri women carrying poison protest in roof

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें