Video: देवदूत से कम नहीं देवभूमि का ये नौजवान, विदेश में फंसे एक और उत्तराखंडी को बचाया

Video: देवदूत से कम नहीं देवभूमि का ये नौजवान, विदेश में फंसे एक और उत्तराखंडी को बचाया

Roshan raturi save a uttarakhandi life in dubai  - उत्तराखंड न्यूज, रोशन रतूड़ी ,उत्तराखंड,

जिनके दिल में उत्तराखंड बसा हो, जो पल पल उत्तराखंड के लिए सांसें लेते हैं, जिनके लिए देवभूमि की निस्वार्थ सेवा करते रहना ही मकसद है, ऐसे लोगों को राज्य समीक्षा बार बार सलाम करता है। ऐसे ही एक और उत्तराखंडी हैं रोशन रतूड़ी। रोशन रतूड़ी आज उत्तराखंड के हजारों युवाओं और परिवारों के लिए देवदूत साबित हो रहे हैं। रोशन रतूड़ी दुबई में भले ही रहते हैं, लेकिन उनका दिल उत्तराखंड के लिए धड़कता है। इस युवा ने बार बार साबित किया है कि अगर कुछ करना है, तो सबसे पहले खुद के ही हाथ आगे बढ़ाने होंगे। मुश्किलों से गुजरना कोई इस युवा से सीखे। हाल ही में रोशन रतूड़ी ने एक उत्तराखंडी युवक को दुबई की नरक भरी जिंदगी में फंसने से बचा दिया। इस बात की जानकारी रोशन रतूड़ी ने राज्य समीक्षा को भी दी है। इसके साथ ही उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर भी इस बारे में बताया है।

उन्होंने लिखा है कि ‘’एक और ज़िन्दगी को उसके परिवार से मिलाने जा रहा हूं।’’ रोशन रतूड़ी कहते हैं कि इंसान चाहे तो मुश्किल से मुश्किल काम को भी हिम्मत के साथ आसानी से कर सकता है। बस इसके लिए जुनून होना चाहीए। उन्होंने लिखा है कि ‘’आज एक और भारतीय भाई जो उतराखंड के रहने वाले हैं, उनको घर भेजने जा रहा हूं। इस उत्तराखंडी युवक का नाम धूम सिंह है। रोशन रतूड़ी ने इन्हें नरक भरी जिंदगी से निकालने में काफी मेहनत की है। धूम सिंह को दुबई से शारजहां इमीग्रेशन कार्यालय से लाए और सारी कानूनी कार्यवाही को पूरा किया। रोशन ने लिखा कि ‘’आज रात की फ़्लाइट 9:40 से धूम सिंह अपने वतन वापस पहुंच जाएंगे। रोशन रतूड़ी बताते हैं कि वो हमेशा यूं ही इनसानियत के लिए काम करते रहते हैं। उनके मुताबिक ये जोखिम भरा काम है लेकिन नामुमकिन कुछ भी नही है।

राज्य समीक्षा से बातचीत में रोशन रतूड़ी ने कहा कि वो बार बार उत्तराखंड के लिए काम करते रहेंगे। उनकी मांग है कि इस काम में सरकार भी उनकी मदद करे। राज्य समीक्षा रोशन रतूड़ी को तहे दिल से शुक्रिया अदा करता है। जिस तरीके से वो देवभूमि के युवाओं को गलत रास्ते पर जाने से रोक रहे हैं, वो सच में बेहतरीन काम है। रोशन रतूड़ी का कहना है कि वो हर बार ऐसा काम करेंगे। किसी ने सच ही कहा है कि रास्ते हैं तो मंजिलें हैं, मंजिलें हैं तो हौसला है, हौसला है तो विश्वास है और विश्वास है तो जीत है। रोशन रतूड़ी भी इसी फलसफे पर चलते हैं। हर बार लगातार वो ऐसे युवाओं को वतन वापस भेजते हैं, जो विदेशों में फंस गए हैं और दाने दाने के मोहताज हो गए हैं। इस उत्तराखंडी के दिल में मातृभूमि बसी है और ऐसे युवाीओं को हमारी टीम की तरफ से हार्दिक बधाई।


Uttarakhand News: Roshan raturi save a uttarakhandi life in dubai

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें