उत्तराखंड का सपूत सीमा पर शहीद, चमोली जिले का लाल देश के लिए कुर्बान

उत्तराखंड का सपूत सीमा पर शहीद, चमोली जिले का लाल देश के लिए कुर्बान

suraj singh topal martyr - उत्तराखंडी शहीद, सूरज सिंह तोपाल,उत्तराखंड,

उत्तराखंड का एक और सपूत सीम पर देश के लिए शहीद हो गया। एक और लाल ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हुई । इस मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया गया। इस मुठभेड़ में भारतीय सेना के दो जवान शहीद हुए हैं। इसके अलावा सीआरपीएफ का एक जवान घायल हो गया। शहीद जवानों में से एक उत्तराखंड के चमोली जिले का सपूत था। कर्णप्रयाग के रहने वाले जवान सूरज सिंह तोपल देश के लिए कुर्बान हो गए। जवान सूरज सिंह कर्णप्रयाग के कोलाडुंग्री के फलोता गांव के निवासी थे। सूरज सिंह के लिए कहा जाता था कि वो बेहद ही साहसी लड़ाके थे। किसी भी ऑपरेशन को बखूबी से अंजाम देना उन्हें आता था। अपनी वीरता के लिए वो भारतीय सेना में सभी के बीच लोकप्रिय थे।

अब आपको बताते हैं कि किस तरह से ये एनकाउंटर हुआ था। सेना को खबर मिली थी कि पंपोर के पास सामबोरा गांव में कुछ आतंकी छिपे हैं। आतंकियों को नेस्तनाबूत करने के लिए सेना अपने मिशन पर चल पड़ी। इस एनकाउंटर में एक आतंकी मारा गया। इसके अलावा 2 आतंकवादी भागने में कामयाब हो गए। रिपोर्ट के मुताबिक मारे गए आतंकी का नाम बदर था। बदर जैश-ए-मोहम्मद का सदस्य था। सेना की विक्टर फोर्ट के जीओसी ने मीडिया को जानकारी दी है कि सेना ने पिछले 6 महीने में 80 आतंकियों को मार गिराया है। इसके अलावा सेना के अधिकारी का कहना है कि आतंकियों के गढ़ दक्षिणी कश्मीर में अभी भी 115 आतंकी छिपे हैं। उनका कहना है कि इन 115 आतंकियों में से 100 के करीब स्थानीय आतंकी हैं। इसके अलावा इनमें 15 आतंकी विदेशी धरती से घुसपैठ करके आए हैं।

आतंकियों के खिलाफ इस ऑपरेशन में सेना के दो जवान शहीद हो गए जबकि सीआरपीएफ का एक जवान घायल हो गया। बताया जा रहा है कि इस इलाके में अभी भी दो आतंकियों के छुपे होने की खबर है। ऐसे में सेना से कहा गया है कि पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन को जारी रखे । आपको बता दें कि गुरुवार सुबह ही आतंकियों ने अनंतनाग में सुरक्षाबलों के काफिले पर हमला किया था। इससे पहले 29 अक्टूबर को उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में जम्मू-कश्मीर पुलिस के SOG का एक जवान शहीद हो गया था। 13 अक्टूबर को पुलवामा के ही लिटर गांव में सेना ने सर्च ऑपरेशन के दौरान लश्कर के दो टॉप कमांडर्स को मार गिराया था। देखा ये भी जा रहा है कि हर महीने देवभूमि का एक लाल शहीद हो रहा है। शहीद सूरज सिंह की शहादत को राज्य समीक्षा का सलाम ।


Uttarakhand News: suraj singh topal martyr

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें