दुनिया पर फिर मंडराया सबसे बड़ा खतरा, काल बनकर लौटा ये हाहाकारी विलेन

दुनिया पर फिर मंडराया सबसे बड़ा खतरा, काल बनकर लौटा ये हाहाकारी विलेन

cyber attack petya Suspected   - रेन्समवेयर, साइबर अटैक, साइबर क्राइमउत्तराखंड,

रेन्समवेयर के बारे में आप अच्छी तरह से जानते होंगे। इससे पहले ये वायरस दुनिया के 99 से ज्यादा मुल्कों को अपना निशाना बना चुका है। अब एक बार फिर से कहा जा रहा है कि ये वायरस और भी ज्यादा खतरनाक होकर वापस लौटा है। इससे पहले वानाक्राई वायरस दुनिया में सभी को परेशान कर रहा था। लेकिन इस बार इसका नाम है पीटरैप रेंसमवेयर वायरस। अब आपको बता देते हैं कि आखिर दुनिया के कितने मुल्कों को इस वायरस ने निशाना बनाया है। सबसे पहले ये जान लीजिए कि इस वायरस की जद में भारत में भी है। इसके साथ ही इस वायरस ने यूके, रूस, फ्रांस, स्पेन में कई लोगों को निशाना बना दिया है। इस वायरस ने कंज्यूमर, शिपिंग, एविएशन, ऑइल ऐंड गैस कंपनियों पर धावा बोला है। बताया जा रहा है कि इस इस साइबर अटैक का असर मुंबई में भारत के सबसे बड़े कंटेनर पोर्ट जवाहर लाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट पर भी दिखा।

इस पोर्ट के तीन में से एक टर्मिनल पर काम बुरी तरह से प्रभावित हुआ। पीटरैप को पुराने वाले रेंसमवेयर से काफी ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है। इस वायरस ने 20 नामी कंपनियों की कम्प्यूटर स्क्रीन्स लॉक कर दी। इसके बाद इन स्क्रीन्स को खोलने के एवज में 300 डॉलर की डिमांड रखी गई थी। इससे पहले रेंसमवेयर ने कई मुल्कों के बैंकों के सिस्टम को लॉक कर दिया था। इसके साथ ही उन सिस्टम में काफी डेटा भी चुराया था। इसके बाद वो डेटा वापस करने के एवज में बड़ी रकम वसूली गई थी। सवाल ये है कि क्या सच में दुनिया में अब तक कोई ऐसी टेक्नोलॉजी नहीं आई जो इस वायरस का जवाब दे सके। ऐंटीवायरस सॉफ्टवेयर्स सप्लाई करने वाली कंपनी ऐवीरा ने इस बात की पुष्टि कर दी है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि हैकर्स के लिए ये नया और आधुनिक हथियार बन रहा है।

इस बार जिस वायरस ने दुनिया को अपना निशाना बनाया है, वो पुराने वाले वायरस का अपग्रेडेड वर्जन बताया जा रहा है। इसलिए आप सावधान रहें। अपने सिस्टम पर कोई मजबूत एंटीवायरस अपलोड कर दें। इसके साथ ही आपके स्मार्टफोन पर भी इसका अटैक हो सकता है। हालांकि इस बीच एक्सपर्ट्स अब इस हमले का तोड़ निकालने में लग गए हैं। कई बिजनेस साइट्स, बिजनस यूनिट्स में आईटी सिस्टम डाउन हो गया है। उधर इस वायरस यानी रेन्समवेयर के सबसे भयानक परिणाम यूक्रेन को भुगतने पड़ रहे हैं। इस मुल्क के सरकारी मंत्रालयों, बिजली कंपनियों और बैंक के कम्प्यूटर्स में खराबी सामने आ रही है। इसलिए आप भी सावधान रहिए, अगर हो सके तो कोई मजबूत एंटीवायरस अपने सिस्टम या फिर स्मार्टफोन में डाउनलोड कर दीजिए। कहीं रेन्समवेयर का अगला निशाना आप ना हों।


Uttarakhand News: cyber attack petya Suspected

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें