बदरीनाथ हाईवे पर बस खाई में लटकी, 18 यात्री फंसे और फिर चमत्कार

बदरीनाथ हाईवे पर बस खाई में लटकी, 18 यात्री फंसे और फिर चमत्कार

Bus accident in badrinath highway  - उत्तराखंड न्यूज, uttarakhand news, एक्सीडेंट उत्तराखंड,

कहते हैं कि जाको राखे साईंया मार सके ना कोई। ऐसी ही कहावत देवभूमि में एक बार फिर से चरितार्थ हुई है। दरअसल दिल्ली से यात्रियों की भरी बस चार धामों में से एक बदरीनाथ की तरफ जा रही थी। लेकिन तभी ना जाने क्या हुआ और पूरी की पूरी बस अनियंत्रित हो गई। इस बस में 18 लोग सवार थे। अगर बड़ा हादसा होता था तो सभी जानें जा भी सकती थीं। लेकिन इस बीच जो हुआ, वो किसी चमत्कार से कम नहीं था। 18 जानें बच गई। 19 जून की दोपहर का वक्त था और करीब सवा दो बज रहे थे। यात्रियों से भरी एक बस जोशीमठ से बदरीनाथ की तरफ जा रही थी। इस बीच बस ने विपरीत दिशा से आ रहे एक वाहन को साइड दिया। वाहन को साइड तो दे दिया लेकिन वो बस खुद अनियंत्रित हो गई। ड्राइवर की स्टेयरिंग से कमान छूटी और बस के दो टायर खाई में झूलने लगे। इस बीच चालक ने किसी तरह से यात्रियों को बस से उतारा। जाने कैसे ये बस खाई में लटकी रह गई।

इस बीच एक एक कर सभी यात्रियों को सुरक्षित तरीके से बाहर निकाला गया। पहले यात्रियों को सुरक्षित उतारा गया और आखिरकार ड्राइवर और कंडक्टर भी इस गाड़ी से उतर गए। बस से उतरते ही घबराए तीर्थयात्री बदरीनाथ की आरती करने लगे। इस हादसे के बाद हाईवे पर भारी जाम भी लग गया। दोनों तरफ दू दूर तक गाड़ियों की लंबी लंबी कतारें ही दिख रही थी। आखिरकार देर शाम छह बजे क्रेन और जेसीबी की मदद से बस को हाईवे पर फिर से उतारा गया। तब जाकर ये लंबा जाम खुला। एक प्रत्यक्षदर्शी का कहना है कि जिस जगह पर बस अनियंत्रित होकर लटकी, वहां हाईवे संकरा है। इस बीच हैरानी की बात तो ये भी है कि सड़के के किनारे सुरक्षा इंतजाम के लिए गार्डर भी नहीं लगाए गए थे। कुल मिलाकर कहें तो प्रभु की कृपा से एक बड़ा हादसा होने से बच गया। आपको बता दें कि बदरीनाथ हाईवे पर लगातार हादसे होते जा रहे हैं। ऐसे में लोगों की सुरक्षा भी एक बड़ा पहलू है।

यात्रा के दौरान अक्सर ऐसे हादसे होते रहते हैं। खैर ये सभी यात्री तो बाल बाल बच गए लेकिन हर किसी के साथ ऐसा नहीं होता। इससे कुछ दिन पहले ही गोविंदघाट के पास पिनोला में एक कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई। हादसा इतना भीषण था कि इसमें तीन लोगों की मौत हो गई। इस कार में सवार लोग बदरीनाथ धाम के दर्शन कर लौट रहे थे। मृतकों में दो महिलाएं हैं, जबकि वाहन चालक हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गया। वाहन चालक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जोशीमठ से बेस अस्पताल श्रीनगर के लिए रेफर कर दिया गया है। बदरीनाथ की यात्रा पर आए तीर्थयात्री बुधवार को धाम में दर्शन करने के बाद दोपहर साढ़े तीन बजे जोशीमठ की ओर लौट रहे थे। तभी गोविंदघाट के पास पिनोला में उनकी कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी। हादसे में वाहन में सवार तीर्थयात्री शोभन सिंह और सुखानी देवी, गुड्डी देवी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि वाहन चालक आनंद सिंह बिष्ट गंभीर रूप से घायल हो गया। वाहन चालक गौतमबुद्ध नगर नोएडा का रहने वाला है।


Uttarakhand News: Bus accident in badrinath highway

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें