खुल गुई चीन की पोल...BRICS के मंच से वीके सिंह ने धोया...दोगला है ड्रैगन !

खुल गुई चीन की पोल...BRICS के मंच से वीके सिंह ने धोया...दोगला है ड्रैगन !

China continues to save masood azhar-0617 - India, Pakistan, China, Masood Azhar, Terrorism, Bउत्तराखंड,

पाकिस्तान के आतंकी संगठन भारत के लिए नासूर बने हुए हैं। आतंकी जैसे मसूद अजहर भारत के खिलाफ साजिश करते रहते हैं। चीन अजहर जैसे आतंकियों को बचाता रहता है। आतंकवाद को लेकर चीन की दोगली नीति का एक बार फिर से खुलासा हुआ है। भारत में पाकिस्तान की तरफ से लगातार आतंक फैलाया जा रहा है। पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन लगातार साजिश कर रहे हैं। इसके बाद भी चीन को लगता है कि ये आतंकवाद नहीं है। भारत यूएन में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर बैन की बात करता है। तो ड्रैगन रोड़े अटकाता है। मसूद अजहर को बचाने के लिए चीन लगातार कोशिश कर रहा है। खास बात ये है कि मसूद अजहर पाकिस्तान में रहकर भारत के खिलाफ साजिश करता है। तो ये चीन की नीति है। आतंकवादी मसूद अजहर से प्यार है लेकिन आतंकवाद बुरा है।

चीन की इस दोगली नीति के बारे में फिर से पता लगा ब्रिक्स के मंच से। यहां से चीन ने आतंकवाद के हर रूप की निंदा की है। बता दें कि ब्रिक्स देशों के विदेश मंत्री 18 और 19 जून को चीन के पेइचिंग में मिले थे। इस दौरान भारत के विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने कहा कि वो चीन की इस बात से सहमत हैं कि डेररिज्म हर रूप में बुरा है। ये मानवता का दुश्मन है। इसी के साथ उन्होंने चीन को नसीहत भी दी कि आतंकियों में अच्छे और बुरे का फर्क नहीं होता है। वीके सिंह ने चीन की पोल खोलते हुए साफ साफ कहा कि आतंकवाद सिर्फ आतंकवाद होता है। उन्होंने इशारों इशारों में मसूद अजहर को लेकर चीन को खरी खोटी भी सुना दी। जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक सम्मेलन में सभी देशों से अपील की गई है कि वो आतंक के खिलाफ एकजुट हों और उसका मुकाबला करें।

इसके लिए एक गठबंधन तैयार किया जाए। जल्द ही संयुक्त राष्ट्र महासबा में आतंक के खिलाफ एक संधि की जाएगी इस संधि को ब्रिक्स देशों की मंजूरी है। साफ है कि टेररिज्म को लेकर चीन की नीतियों की पोल फिर से खुल गई है। इस सम्मेलन के दौरान चीन ने आतंक को बुरा तो कहा लेकिन मसूद अजहर पर वो कुछ नहीं बोला। बता दें कि भारत काफी समय से कोशिश कर रहा है कि मसूद अजहर को बैन किया जाए। इसके लिए संयुक्त राष्ट्र में भी वो अपील कर चुका है। लेकिन चीन के अड़ंगे के कारण हर बार मसूद अजहर बच जाता है। इसके पीछे चीन का पाकिस्तान प्रेम छिपा हुआ है। पाकिस्तान के कहने पर ही चीन मसूद अजहर को बचाता रहता है। ऐसे में आतंकवाद बुरा लेकिन आतंकियों से प्यार ये नीति चीन के लिए खतरनाक साबित हो सकती है।


Uttarakhand News: China continues to save masood azhar-0617

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें