अकाउंड होल्डर्स को देना होगा कैश हैंडलिंग चार्च

अकाउंड होल्डर्स को देना होगा कैश हैंडलिंग चार्च

Account holders will be charged a cash handling - Account holders will be charged a cash handlingउत्तराखंड,

बैंक खाताधारकों के लिए जरूरी खबर है। अब महीने में चार बार से ज्यादा नकद लेन-देन करने वाले सेविंग और सैलरी अकाउंड होल्डर्स को कैश हैंडलिंग चार्ज देना पड़ेगा। नया नियम एक मार्च से जारी होने जा रहा है। नोटबंदी के बाद मोदी सरकार की तरफ से उठाया गया ये दूसरा बड़ा कदम है। टैक्स के जरिए सरकार नकद कैश लेन-देन की व्यवस्था को खत्म करने की कोशिश कर रही है।

प्राइवेट बैंक करेंगे टैक्स में बढ़ोतरी

प्राइवेट सेक्टर के दूसरे सबसे बड़े बैंक एचडीएफसी ने नकदी से जुड़ी कुछ गतिविधियों के लिए बचत खाताधारकों के लिए शुल्क में अच्छी-खासी बढ़ोतरी का फैसला किया है। यह नकद लेन-देन से लोगों को हतोत्साहित करने की एक कोशिश है। दरअसल सरकार नोटबंदी के बाद लोगों को नकद रहित और डिजिटल लेन-देन के लिए प्रोत्साहित कर रही है। इस लिहाज से बैंक का यह कदम महत्वपूर्ण है। निजी बैंक एक मार्च से नया नियम लागू करने जा रहे हैं। एचडीएफसी समेत कई निजी बैंकों ने इसकी दरें भी जारी कर दी हैं। सरकारी बैंक भी इसकी तैयारी कर रहे हैं।

नकदी के लेन-देन पर लगेगा टैक्स

नए नियम के तहत खाताधारकों से कैश हैंडलिंग चार्ज वसूलने के साथ ही एक महीने में दो लाख रुपये से ज्यादा कैश लेनदेन पर अतिरिक्त चार्ज भी लगेगा। यही नहीं किसी दूसरे के खाते में कैश जमा कराए जाने पर भी टैक्स देना होगा। एचडीएफसी बैंक की वेबसाइट के अनुसार थर्ड पार्टी ट्रांजैक्शन के लिए प्रति दिन 25,000 रुपये की सीमा तय की गई है। साथ ही शाखाओं में फ्री ट्रांजैक्शन की संख्या पांच से कम कर चार कर देने के साथ ही नॉन-फ्री ट्रांजैक्शन के लिए फी भी 50 प्रतिशत बढ़ाकर 150 रुपये कर दिया है। किसी भी व्यक्ति के बैंक खाते में एक महीने के भीतर पांचवें कैश ट्रांजेक्शन पर 150 रुपये कैश हैंडलिंग चार्ज के अलावा सर्विस टैक्स और सेस मिलाकर करीब 173 रुपये अतिरिक्त चार्ज लगेगा।

बैंक बढ़ाने जा रहे हैं सर्विस टैक्स

बैंक की होम ब्रांच में दो लाख से ऊपर कैश जमा कराने पर पांच रुपये प्रति हजार टैक्स के साथ ही 150 रुपये कैश हैंडलिंग चार्ज, सर्विस टैक्स और सेस अलग से लगेगा। दो लाख रूपये से ज्यादा जमा कराए जाने के बाद 150 रुपये कैश हैंडलिंग चार्ज, सर्विस टैक्स, सेस और पांच रुपये प्रति हजार शुल्क लगेगा। नॉन होम ब्रांच के जरिये अपने खाते में एक दिन में अधिकतम 25 हजार रुपये जमा कराए जा सकते हैं। इससे ऊपर कैश जमा कराने पर पांच रुपये प्रति हजार के अलावा 150 रुपये, सर्विस टैक्स और सेस लगेगा। किसी और के खाते (थर्ड पार्टी) में एक भी रुपये कैश जमा कराने पर आपको चार्ज चुकाना पड़ेगा। किसी और के खाते में एक दिन में अधिकतम 25 हजार रुपये ही जमा कराए जा सकते हैं। इस पर 150 रुपये सर्विस टैक्स और सेस अलग से लगेगा। थर्ड पार्टी ट्रांजेक्शन के तहत सीनियर सिटीजन और माइनर अकाउंट्स से एक दिन में 25 हजार का कैश ट्रांजेक्शन मुफ्त होगा।


Uttarakhand News: Account holders will be charged a cash handling

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें