उत्तराखंड के बेरोजगार युवाओं के लिए खुशखबरी, 40 हजार नौकरियां..16 हजार करोड़ होंगे खर्च

त्रिवेंद्र सरकार की कोशिशों का ही नतीजा है कि उत्तराखंड में नए उद्योग स्थापित हो रहे हैं, जिससे लाखों युवाओं को रोजगार मिला है...

40 thousand jobs in uttarakhand - उत्तराखँड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, त्रिवेन्द्र सिंह रावत, उत्तराखंड सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत, त्रिवेन्द्र सिंह रावत न्यूज, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Trivendra Singh Rawat, Ut, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

सत्ता संभालते वक्त त्रिवेंद्र सरकार ने प्रदेश की जनता और युवाओं से जो वादा किया था, सरकार वो वादा निभा भी रही है। भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है, तो वहीं रोजगार के अवसर बढ़ाने की ईमानदार कोशिशें भी हुईं। निवेशकों को आकर्षित करने के लिए प्रदेश में इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन हुआ था, इसके सुखद परिणाम भी सामने आने लगे हैं। प्रदेश सरकार की कोशिशों का ही नतीजा है कि पिछले 10 महीने में प्रदेश में 16 हजार करोड़ का निवेश हुआ। प्रदेश के विकास के लिहाज से ये एक अच्छा संकेत है। क्योंकि जितने ज्यादा निवेशक उत्तराखंड आएंगे, यहां के युवाओं को रोजगार के उतने ही ज्यादा अवसर मिलेंगे। पिछले दस महीने में जो 16 हजार करोड़ का निवेश हुआ है, उससे 40 हजार रोजगार पैदा होंगे, यानि 40 हजार युवाओं को नौकरी मिलेगी। वो अपने जीवन में आगे बढ़ सकेंगे। अपने प्रदेश में ही नौकरी मिलेगी तो फिर शहर जाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। इससे पलायन रुकेगा, गांव खाली नहीं होंगे। बालावाला में हुए एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इन्वेस्टर्स समिट के सुखद परिणाम आने लगे हैं। उत्तराखंड में पिछले 17 साल में कुल 40 हजार करोड़ का निवेश आया, जबकि पिछले दस महीने के भीतर ही 16 हजार करोड़ का निवेश धरातल पर उतर गया है। इससे 40 हजार रोजगार पैदा होंगे।

प्रदेश सरकार की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा निवेशक उत्तराखंड आएं, ताकि स्थानीय लोगों को रोजगार मिल सके। बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ने के लिए प्रदेश सरकार की कोशिशें जारी हैं। इन्वेस्टर्स समिट के जरिए निवेशकों को प्रदेश में उद्योग लगाने के लिए प्रेरित किया गया। इसके साथ ही अलग-अलग विभागों में खाली पदों को भी भरा जा रहा है। चलिए अब आपको बताते हैं कि अलग राज्य बनने के बाद उत्तराखंड में उद्योगों ने कैसे रफ्तार पकड़ी। राज्य गठन के समय उत्तराखंड में निवेश 8 हजार करोड़ था, जो कि अब बढ़कर 32 हजार करोड़ तक पहुंच गया है। उस वक्त प्रदेश में 15 हजार छोटे उद्योग चल रहे थे, जिनकी संख्या अब 60 हजार से ज्यादा हैं। बड़े उद्योगों की संख्या भी 38 से बढ़कर करीब 3 सौ हो गई है। प्रदेश में निवेश बढ़ा है, साथ ही रोजगार के मौके भी। प्रदेश सरकार इन्वेस्टर्स को बेहतर सुविधाएं दे रही है। शुरुआती तौर पर जमीन की खरीद पर छूट दी गई। इसके अच्छे नतीजे भी देखने को मिले। इन्वेस्टर्स खुश हैं और उत्तराखंड में उद्योग स्थापित करना चाहते हैं। अलग-अलग विभाग इन्वेस्टर्स समिट के दौरान आए निवेशकों से बात कर रहे हैं, उन्हें जो भी मदद चाहिए वो दे रहे हैं। त्रिवेंद्र सरकार की इन्हीं कोशिशों के चलते उत्तराखंड में उद्योग फल-फूल रहे हैं, जिससे लाखों युवाओं को रोजगार मिला है। ऐसी कोशिशें जारी रहनी चाहिए।


Uttarakhand News: 40 thousand jobs in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें