उत्तराखंड: पुलिस कस्टडी में युवक की मौत के बाद बवाल, ‘खाकी’ पर लगा हत्या का आरोप!

चोरी के शक में पकड़े गए युवक की मौत के बाद मामला लगातार गरमा रहा है। 5 पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। पढ़िए पूरी खबर

uttarakhand youth died in police custudy - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, सितारगंज युवक की पुलिस कस्टडी में मौत, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Sitarganj Youth's Police Custody Death, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड के सितारगंज में पुलिस हिरासत में नाबालिग की मौत के बाद बवाल जारी है। क्षेत्र में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। जिस नाबालिग की मौत हुई है, उसे पुलिस ने चोरी के आरोप में हिरासत में लिया था। सिसौना में हुई चोरी के मामले में पुलिस नाबालिग को पकड़ कर बुधवार को सिडकुल पुलिस चौकी लाई थी। जहां संदिग्ध परिस्थितियों में नाबालिग की मौत हो गई। पुलिस मौत की वजह आत्महत्या बता रही है, जबकि परिजनों ने पुलिस पर नाबालिग की हत्या का आरोप लगाया है। ग्रामीण गुस्से में हैं, लगातार हंगामा और बवाल हो रहा है। एसडीएम और एसएसपी समेत भारी पुलिस फोर्स सितारगंज बुलाई गई है। उधमसिंह नगर के एसएसपी ने सिडकुल चौकी प्रभारी सहित कुल पांच पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। पूरा मामला क्या है, ये भी जान लें। सिसौना में 8-9 जुलाई की रात को चोरी हुई थी। इस मामले में सिडकुल चौकी पुलिस 17 साल के धीरज सिंह राणा को पकड़कर थाने लाई थी। बुधवार रात को पुलिस ने लड़के से पूछताछ की। गुरुवार को दिन में करीब दो बचे धीरज हवालात में मृत मिला। पुलिस कह रही है कि धीरज ने शर्ट से फंदा बनाकर फांसी लगा ली। पुलिस ये भी कह रही है कि घटना के वक्त दो पुलिसवाले चौकी में मौजूद थे। उसी दौरान कुछ महिलाएं अपनी समस्याएं लेकर आई थीं। पुलिसकर्मी उनकी शिकायत सुनने लगे। तभी धीरज ने फांसी लगा ली। आगे पढ़िए परिजन क्या कह रहे हैं।

यह भी पढें - संसद में गढ़वाली ओखाण, अनिल बलूनी ने गढ़वाली में कही बड़ी बात..देखिए वीडियो
वहीं परिजनों का आरोप है कि धीरज की मौत खुदकुशी नहीं हत्या है। पुलिस ने धीरज को इतना टॉर्चर किया कि उसकी जान चली गई। पुलिस हिरासत में नाबालिग की मौत होने के बाद क्षेत्र में बवाल मचा है। एसएसपी बरिंदरजीत सिंह भी मौके पर पहुंचे। लाश को पोस्टमार्टम के लिए रुद्रपुर भेजा गया है। फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है, रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत की असली वजह साफ हो सकेगी। लोगों में गुस्सा है, अपर जिलाधिकारी ने कहा कि जिन भी पुलिसकर्मियों की लापरवाही से ये घटना हुई, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। बता दें कि रुद्रपुर में पुलिस हिरासत में मौत का ये पहला मामला नहीं है। ऊधमसिंहनगर के काशीपुर से लेकर खटीमा तक के थानों और चौकियों में हिरासत में लिए गए 6 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हिरासत में मौत के मामले में कई पुलिसकर्मी जेल भी जा चुके हैं।


Uttarakhand News: uttarakhand youth died in police custudy

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें