देहरादून में कृष्णा और कशिश की मौत बनी रहस्य..रिपोर्ट में सामने आई चौंकाने वाली बात

बीते 18 दिसंबर को 23 साल के कृष्णा और 19 साल की कशिश की लाश फ्लैट के कमरे से मिली थी, इनकी मौत अब भी एक राज है...

dehradun krishna kashish death mistry - देहरादून कृष्णा कशिश, देहरादून कृष्णा कशिश मौत, देहरादून लव कपल कृष्ण कशिश, देहरादून डेथ मिस्ट्री, Dehradun Krishna Kashish, Dehradun Krishna Kashish Death, Dehradun Love Kapl Krishna Kashish, Dehradu, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

ये घटना बीते साल 18 दिसंबर की है। इस दिन देहरादून में एक ऐसी दिल दहला देने वाली घटना हुई थी, जिसने हर माता-पिता को अपने बच्चों के बारे में, उनके रिश्तों के बारे में, दोस्तों के बारे में...एक बार फिर से सोचने पर मजबूर कर दिया था। यहां 23 साल के कृष्णा मल्होत्रा और उसकी 19 साल की प्रेमिका कशिश मान की लाश एक फ्लैट से बरामद हुई थी। आमतौर पर शांत माने जाने वाले दून में जिसने भी इस घटना के बारे में सुना वो सन्न रह गया। प्रेमी-प्रेमिका की मौत को लेकर थ्योरी दी जा रही थी कि प्रेमी कृष्णा ने ही गर्लफ्रैंड कशिश की हत्या की थी, उसके बाद उसने भी फांसी लगा ली। खैर कृष्णा की मौत की वजह तो पता चल गई है, लेकिन कशिश कैसे मरी, ये मिस्ट्री अब तक सुलझ नहीं पाई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कृष्णा की मौत की वजह फांसी पर लटकना बताई गई है, पर कशिश की मौत की वजह उस वक्त भी साफ नहीं हो पाई थी। आगे पढ़िए...

यह भी पढें - देवभूमि का एक सीनियर एडवोकेट..जो अपने दम पर संवार रहा है पहाड़ में शिक्षा की तकदीर
पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने उसका विसरा संरक्षित किया था। माना जा रहा था कि शायद कशिश की मौत जहरीले या नशीले पदार्थ के सेवन की वजह से हुई है। बाद में विसरा दून के पंडितवाड़ी स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया था, पर वहां से जो रिपोर्ट मिली है उसने मामले को और उलझा दिया है। इसमें कहा गया है कि विसरा में जहरीले पदार्थ के सेवन की पुष्टी नहीं हुई है। ऐसे में हर किसी के मन में यही सवाल है कि आखिर कशिश की मौत हुई कैसे...कुल मिलाकर उसकी मौत सुपर मिस्ट्री बन गई है, जो शायद अब कभी नहीं सुलझ नहीं पाएगी। कृष्णा, जो कि इस बारे में कुछ बता सकता था वो तो पहले ही मर चुका है। घटना वाले दिन फ्लैट में कृष्णा और कशिश के अलावा कोई तीसरा नहीं गया था, सीसीटीवी की फुटेज से ये भी साफ हो गया है। आगे जानिए... जानिए 17 दिसंबर को क्या हुआ था

यह भी पढें - Video: देवभूमि का परीलोक...लोग कहते हैं कि यहां आज भी दिखती हैं परियां..देखिए वीडियो
आपको बता दें कि बीती 17 दिसंबर को नहरवाली गली में रहने वाले कृष्णा मल्होत्रा और पलटन बाजार में रहने वाली कशिश मान की लाश इन्फीनिटी एन्क्लेव के फ्लैट से मिली थी। कृष्णा पंखे से बंधे तार से लटक रहा था, जबकि कशिश बेड पर पड़ी थी। परिजनों ने बताया था कि कृष्णा और कशिश रिलेशनशिप में थे, पर कुछ दिनों से कशिश उससे दूरी बनाने लगी थी, वो किसी और से फोन पर बात करती थी, यही कृष्णा को खटक रहा था। पुलिस की थ्योरी में कहा गया था कि कशिश के मुंह पर तकिया रख कर उसे मारने के बाद कृष्णा ने फांसी लगा ली। पर ये थ्योरी भी गलत निकली। कशिश की मौत की वजह एक राज बन गई है, और ये गुत्थी शायद अब कभी नहीं सुलझ पाएगी। कशिश के माता-पिता अब भी अपनी बच्ची की मौत की वजह जानना चाहते हैं, लेकिन पुलिस के पास उन्हें बताने के लिए कुछ नहीं है। बहरहाल इस मामले में पुलिस की जांच जारी है।


Uttarakhand News: dehradun krishna kashish death mistry

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें