केदारनाथ में हेलीकॉप्टर कंपनी की दादागीरी?..आधे घंटे तक तड़प-तड़प कर श्रद्धालु की मौत

केदारनाथ में हेली सेवा वालों ने स्ट्रेचर पर पड़े मरीज की 45 मिनट तक सुध नहीं ली, मरीज ने स्ट्रेचर पर पड़े-पड़े दम तोड़ दिया...

PILIGRIMS DEATH KEDARNATH DUE TO HELICOPTER COMPENY NEGLIGENCE - केदारनाथ हेलीकॉप्टर, केदारनाथ हेलीकॉप्टर सेवा, केदारनाथ हेलीकॉप्टर टिकट, केदारनाथ हेलीकॉप्टर मरीज, केदारनाथ धाम,Kedarnath helicopter, Kedarnath helicopter service, Kedarnath helicopter ticket, Kedarna, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

जब से केदारनाथ यात्रा के लिए हेली सेवा शुरू हुई है, तभी से विवादों की भी शुरुआत हो गई है। हेली सेवा देने वाली कंपनियों पर टिकट की कालाबाजारी से लेकर यात्रियों से बदसलूकी तक के गंभीर आरोप लग रहे हैं। कई मामलों में रिपोर्ट भी दर्ज हो चुकी है, पर इस बार जो हुआ है, वो वाकई इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला है। यहां एक बीमार आदमी स्ट्रेचर पर पड़ा-पड़ा आखिरी सांसे ले रहा था, लेकिन हेली सेवा कंपनी स्टाफ ने उसकी सुध नहीं ली। मरीज ने स्ट्रेचर पर ही दम तोड़ दिया। मरीज की मौत के बाद परिजन और लोग गुस्से से भड़क गए और उन्होंने हेली सेवा कंपनी के कर्मचारियों की पिटाई कर दी। हंगामा बढ़ता गया तो पुलिस भी मौके पर पहुंच गई, पुलिस क्षेत्राधिकारी ने हेली सेवा के स्टाफ से बात करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने अपनी गलती नहीं मानीं। पुलिस और कर्मचारियों के बीच तू-तू मैं-मैं हुई तो गुस्से में पुलिस क्षेत्राधिकारी ने स्टाफ के एक कर्मचारी को थप्पड़ रसीद कर दिया। इस घटना के बाद क्षेत्र की हेली कंपनियों ने दो घंटे से ज्यादा वक्त के लिए हेली सेवाएं बंद कर दीं। पूरा मामला क्या है, चलिए आपको बताते हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों के लिए अच्छी खबर..अनिल बलूनी ने की स्पेशल फंड की मांग
मुंबई के गोरेगांव वेस्ट में रहने वाले 51 साल के यात्री विनोद व्यास बाबा केदार के दर्शन के लिए आए थे। वो लाइन में लगे हुए थे, कि तभी उनकी तबियत बिगड़ गई। साथ आए लोग उन्हें सिक्स सिग्मा अस्पताल लेकर गए। जहां उन्हें प्राथमिक उपचार देने के बाद आधे घंटे के भीतर गुप्तकाशी पहुंचाने को कहा गया। एसडीएम कमलेश मेहता ने भी हेली कंपनी को इस संबंध में लिखित आदेश दिए। पर हेली कंपनी के कर्मचारियों ने 45 मिनट तक मरीज की सुध नहीं ली। परिजन रोते-बिलखते रहे, कर्मचारियों से मदद की गुहार लगाते रहे, लेकिन उनका दिल नहीं पसीजा। विनोद व्यास ने स्ट्रेचर पर पड़े-पड़े ही दम तोड़ दिया। घटना के बाद लोगों ने मौके पर जमकर हंगामा किया। सीओ भी हंगामा शांत कराने पहुंचे, लेकिन हेली सेवा के कर्मचारी तो खुद को प्रशासन से ऊपर बताने लगे और लगे रौब झाड़ने। जिसके बाद गुस्साए सीओ ने एक कर्मचारी को थप्पड़ जड़ दिया। लोगों ने भी हेली सेवा कंपनी के कर्मचारियों को जमकर पीटा। घटना के बाद क्षेत्र में हेली सेवा बंद कर दी गई। एसडीएम के हस्तक्षेप के बाद कहीं जाकर हवाई सेवाएं शुरू हो पाईं। वहीं एसडीएम अरविंद पांडेय ने कहा कि हेली कंपनी की लापरवाही का मामला उनके संज्ञान में आया है। मृतक के परिजन अगर तहरीर देंगे तो दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


Uttarakhand News: PILIGRIMS DEATH KEDARNATH DUE TO HELICOPTER COMPENY NEGLIGENCE

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें