दुनियाभर में सुपरहिट हुई केदारनाथ की ध्यान गुफा..30 जून तक बुकिंग फुल..देखिए तस्वीरें

केदारनाथ की ध्यान गुफा लगातार सुर्खियों में बनी हुई है, 30 जून तक के लिए ध्यान गुफा की बुकिंग फुल हो चुकी है।

kedarnath dhyan gufa spreading all over world - उत्तराखंड, केदारनाथ ध्यान गुफा, केदारनाथ मेडिटेशन केव, केदारनाथ ध्यान गुफा मोदी, केदारनाथ मेडिटेशन केव मोदी, केदारनाथ ध्यान गुफा बुकिंग, केदारनाथ मेडिटेशन केव बुकिंग, Uttarakhand, Kedarnath Meditation, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

आपको याद होगा 18 मई को लोकसभा चुनाव का रिजल्ट आने से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ दर्शन के लिए आए थे, वो यहां स्थित ध्यान गुफा में भी रूके थे...इस दौरान पीएम मोदी ने रातभर ध्यान गुफा में साधना की। साधना के बाद पीएम मोदी तो लौट गए, लेकिन केदारनाथ में स्थित ये ध्यान गुफा अब भी लगातार सुर्खियों में बनी हुई है। क्या देश, क्या विदेश हर जगह के श्रद्धालु केदारनाथ में स्थित मेडिटेशन केव में रुकना चाहते हैं। यहां साधना करना चाहते हैं, यहां के आध्यात्मिक जादू से रूबरू होना चाहते हैं। ध्यान गुफा श्रद्धालुओं के बीच किस हद तक लोकप्रिय हो गई है, इसका अंदाजा आप यूं लगा सकते हैं कि 30 जून तक के लिए ध्यान गुफा पूरी तरह पैक है। जीएमवीएन को ध्यान गुफा के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन मिले हैं। बात करें जून महीने की तो पिछले 13 दिनों में 15 श्रद्धालु ध्यान गुफा में रुक चुके हैं, और यहां साधना कर चुके हैं।

1/4 केदारनाथ में ध्यान गुफा का क्रेज
kedarnath dhyan gufa spreading all over world

केदारनाथ यात्रा चरम पर है, ऐसे में ध्यान गुफा के लिए जीएमवीएन को लगातार आवेदन मिल रहे हैं। ध्यान गुफा को लेकर लोगों में जबर्दस्त उत्साह देखने को मिल रहा है।

2/4 GMVN के पास है जिम्मा
kedarnath dhyan gufa spreading all over world

बता दें कि केदारनाथ से कुछ ही दूरी पर स्थित ध्यान गुफा की देखभाल का जिम्मा गढ़वाल मंडल विकास निगम के पास है। कहने को ये गुफा है, पर यहां श्रद्धालुओ की सुविधा के लिए हर चीज मुहैय्या कराई गई है।

3/4 आराम से लेकर आधुनिक संचार साधन
kedarnath dhyan gufa spreading all over world

आराम से लेकर आधुनिक संचार साधन भी इस गुफा में मौजूद हैं। जैसे-जैसे बुकिंग कराने वालों की संख्या बढ़ रही है, जीएमवीएन ने मेडिटेशन केव में रुकने के नियम सख्त बनाने की भी तैयारी कर ली है। मेडिटेशन केव में रुकने वालों के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 18 साल रखी गई है।

4/4 यहां आने के लिए स्वस्थ होना जरूरी
kedarnath dhyan gufa spreading all over world

इसके साथ ही गुफा में रुकने वाले का पूरी तरह स्वस्थ होना भी जरूरी है। यात्री के पास मेडिकल सर्टिफिकेट होना चाहिए, साथ ही उसे अपने स्वास्थ्य का परीक्षण भी कराना होगा, तभी जाकर मेडिटेशन केव में साधना की इजाजत दी जाएगी।


Uttarakhand News: kedarnath dhyan gufa spreading all over world

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें