उत्तराखंड: फेसबुक पर विदेशी लड़की से हुई दोस्ती, सुरेन्द्र को लगा 80 हजार का चूना

साइबर ठगों ने विदेशी युवती बन खटीमा के युवक को 80 हजार का चूना लगा दिया...जानिए पूरा मामला

CYBER CRIME NEWS FROM UTTARAKHAND - साइबर क्राइम उत्तराखंड, उत्तराखंड साइबर क्राइम, उत्तराखंड खटीमा न्यूज, खटीमा ऑनलाइन फ्रॉड न्यूज,Cyber ​​crime Uttarakhand, Uttarakhand cyber crime, Uttarakhand Khatima News, Khatima Online Fraud News,, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

फेसबुक पर विदेशी युवती से दोस्ती करना युवक को महंगा पड़ा, युवती ने पहले युवक को अपने जाल में फंसाया और बाद में इंडिया आने की बात कर कर झांसे में लिया। किसी तरह युवती ने पीड़ित युवक से अपने खाते में 80 हजार रुपये जमा करा लिए, बाद में पता चला कि जिस खाते में रुपये जमा किए गए वो भोपाल में रहने वाले किसी युवक का है...अब पीड़ित युवक ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई है। मामला ऊधमसिंहनगर के खटीमा का है, जहां साइबर क्रिमिनल्स ने एक युवक को अपने जाल में फंसाकर उसे आसानी से 80 हजार का चूना लगा दिया। पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में सुरेंद्र नाम के युवक ने बताया कि कुछ दिन पहले फेसबुक पर उसकी दोस्ती यूके में रहने वाली एक लड़की से हुई, उसने अपना नाम आशी सुनील बताया। उसने कहा कि वो यूनाइटेड किंगडम के कार्डिफ शहर में रहती है और भारत आ रही है।

यह भी पढें - उत्तराखंड में शोक की लहर...BJP के एक और वरिष्ठ नेता का निधन
युवक बेहद खुश था, विदेशी दोस्त के भारत आने का इंतजार कर रहा था। इसी बीच बीती 23 अप्रैल को पता चला कि युवती मुंबई एयरपोर्ट आ गई है, युवक को किसी ने कस्टम अधिकारी बनकर फोन किया और कहा कि आपकी दोस्त आशी सुनील के पास दो लाख पाउंड मिले हैं, इंडियन करेंसी में ये धनराशि एक करोड़, 85 लाख है, जिसे जब्त कर लिया गया है। सुरेंद्र को कहा गया कि पेनाल्टी के तौर पर उसे 80 हजार रुपए जमा कराने होंगे, युवक झांसे में आ गया और उसने 23 अप्रैल को 80 हजार रुपये दिए गए अकाउंट में जमा करा दिए। एक घंटे बाद सुरेंद्र को फिर फोन आया, और उससे रजिस्ट्रेशन चार्ज के तौर पर एक लाख 56 हजार रुपये जमा कराने को कहा गया...ये सुनने के बाद सुरेंद्र को शक होने लगा। फिर किसी ने विदेशी नंबर से सुरेंद्र को कॉल करके कहा कि वो बताई गई धनराशि को जमा करा दे।

यह भी पढें - उत्तराखंड: गरुणताल में नहाने गए थे ग्राफिक एरा के 6 छात्र...2 छात्रों की डूबने से मौत
फोन करने वाला खुद को युवती का भाई बता रहा था। पीड़ित सुरेंद्र ने जानकारी जुटानी शुरू की तो पता चला कि जिस खाते में अस्सी हजार रुपये जमा कराए गए थे वो एचडीएफसी बैंक भोपाल के विष्णु शर्मा के नाम से था। बाद में सभी आरोपियों के फोन बंद आने लगे। पीड़ित ने अब पुलिस से मदद मांगी है। साइबर क्राइम से जुड़ी ऐसी खबरें लगातार सामने आ रही हैं, लेकिन लोग इनसे सबक लेने की बजाय ठगों के झांसे में आ जाते हैं। इसी बेवकूफी का फायदा साइबर क्रिमिनल उठा रहे हैं। हमारी आपसे अपील है कि सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर अनजान लोगों से दोस्ती ना करें। कोई दोस्ती कर रुपये मांगे तो समझ जाएं कि कहीं ना कहीं गड़बड़ जरूर है...इसकी शिकायत तुरंत पुलिस से करें।


Uttarakhand News: CYBER CRIME NEWS FROM UTTARAKHAND

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें