loksabha elections 2019 results

ट्रेनिंग के दौरान खाई में गिरा आईएमए कैडेट, अस्पताल ले जाते वक्त हुई मौत

इंडियन मिलिट्री एकेडमी के एक कैडेट की ट्रेनिंग के दौरान मौत हो गई...इससे पहले साल 2017 में भी दो आईएमए कैडेट्स ट्रेनिंग के दौरान अपनी जान गंवा चुके हैं।

IMA dehradun cadet dies in accident - इंडियन मिलिट्री एकेडमी, इंडियन मिलिट्री एकेडमी देहरादून, आईएमए देहरादून, IMA dehradun, dehradun, देहरादून, आईएमए, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

एक दुखद खबर देहरादून से आ रही है, जहां इंडियन मिलिट्री एकेडमी में ट्रेनिंग के दौरान एक कैडेट की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि कैडेट प्रशिक्षण के दौरान गहरी खाई में गिरने से घायल हो गया था, उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। हादसा लांघा रोड इलाके में नाइट नेवीगेशन एक्सरसाइज के दौरान हुआ। बीती शाम आईएमए के कुछ कैडेट लांघा रोड क्षेत्र में ट्रेनिंग कर रहे थे, इसी दौरान अमूल रावल नाम का कैडेट पहाड़ी से फिसल कर गिर गया, हादसे में उसे गंभीर चोटें लगीं थी, उसे तुरंत आर्मी हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन तब तक अमूल की मौत हो चुकी थी। अमूल रावल हरियाणा का रहने वाला था। उसका सेलेक्शन एनडीए के जरिए हुआ था, देश सेवा का जज्बा मन में लिए अमूल इसी साल जनवरी में आईएमए आया था, लेकिन ट्रेनिंग के दौरान हुए हादसे ने एक परिवार से ना सिर्फ उसका सहारा छीन लिया, बल्कि देश ने भी एक भावी सैन्य अफसर को गंवा दिया। ये मामला बेहद गंभीर है, यही वजह है कि अकादमी प्रशासन ने इस मामले में कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दिए हैं।

यह भी पढें - भारतीय सेना में उत्तराखंड का रुतबा कायम…एक बार फिर से देश को दिए सबसे ज्यादा जांबाज
आईएमए की ट्रेनिंग के दौरान कैडेट्स की मौत का ये पहला मामला नहीं है। दो साल पहले भी ट्रेनिंग के दौरान दो कैडेट्स की मौत हो गई थी। दुर्भाग्य से इन कैडेट्स में अब अमूल रावल का नाम भी दर्ज हो गया है, जिन्होंने ट्रेनिंग के दौरान अपनी जान गंवा दी। अमूल रावल एनडीए से सेलेक्ट होकर तीन साल की ट्रेनिंग पूरी करने के लिए इसी साल जनवरी में आईएमए आए हुए थे। आपको बता दें कि अगस्त 2017 में भी ट्रेनिंग के दौरान दो कैडेट्स की मौत हो गई थी। उस वक्त आईएमए ने सहारनपुर जिले के बादशाही बाग में 'पहला कदम ' नाम से ट्रेनिंग कैंप लगाया था। ट्रेनिंग के दौरान दस किलोमीटर की दौड़ का आयोजन किया गया था। दौड़ में हिस्सा लेने वाले कैडेटों में से सात की तबीयत बिगड़ गई थी, जिनमें से नवीन कुमार क्षेत्री और दीपक शर्मा नाम के कैडेट की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। नवीन कुमार पश्चिम बंगाल का रहने वाला था, जबकि दीपक शर्मा पंजाब के रहने वाले थे। उस वक्त कैडेट्स की मौत की वजह डिहाइड्रेशन और अत्यधिक थकान बताई गई थी। अमूल रावल की मौत ने एक बार फिर इस दुखद हादसे की याद को ताजा कर दिया है। पोस्टमार्टम के बाद अमूल का शव परिजनों को सौंप दिया गया है। आईएमए ने इस मामले में कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दिए हैं।


Uttarakhand News: IMA dehradun cadet dies in accident

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें