loksabha elections 2019 results

उत्तराखंड: सीधे CM तक पहुंचेगी आपकी शिकायत, आपकी मददगार होगी ये हेल्पलाइन

उत्तराखंड में जल्द ही सीएम हेल्पलाईन 1905 लॉन्च होगी। इसके लिए बकायदा कॉल सेंटर बनेगा और युवाओं को रोजगार से जोड़ा जाएगा।

CM HELPLINE FOR UTTARAKHAND PEOPLE - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, त्रिवेंद्र सिंह रावत, सीएम हेल्पलाइन उत्तराखंड,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Trivandrum Singh Rawat, CM Helpline Uttarakhand, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड में बहुत जल्द ही सीएम हेल्पलाईन 1905 शुरू कर दी जाएगी। इसके लिए एक काॅल सेंटर स्थापित किया जाएगा। हेल्पलाईन के टोलफ्री नम्बर 1905 पर काॅल करके कोई भी नागरिक काॅल सेंटर के कर्मचारी के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। अपर मुख्य सचिवराधा रतूड़ी ने सीएम हेल्पलाईन 1905 की कार्यप्रणाली की समीक्षा की। इस पर विस्तार से जानकारी देते हुए बताया गया कि अगर किसी नागरिक का प्रशासन या विभाग स्तर पर कोई काम नहीं हो रहा है तो सीएम हेल्पलाईन 1905 पर काॅल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। समाधान, मुख्यमंत्री कार्यालय, जिलाधिकारी कार्यालय आदि स्तर पर की जाने वाली शिकायतों को भी इसमें शामिल किया जाएगा। एक इंटीग्रेटेड सिस्टम होने से डुप्लीकेसी को भी रोका जा सकेगा। इस हेल्पलाईन के तहत बनाए गए सिस्टम से नागरिकों की शिकायतों का फाॅलोअप आसानी से हो सकेगा। आगे जानिए इसकी खास बातें...

यह भी पढें - Video: विदेश में सुपरहिट हुआ ऋषिकेश का 'गंगा बीच', देश में बना नंबर-1...देखिए वीडियो
काॅल सेंटर द्वारा शिकायत सीधे उस अधिकारी को फारवर्ड की जाएगी जहां से उस शिकायत का निस्तारण किया जाना है। इसके संचालन के लिए उत्तराखण्ड लोक सेवा अधिकरण बनाया गया है। प्रभावी निदान और सुनवाई के लिए नागरिकों की शिकायतें cmhelpline.uk.gov.in पर रजिस्टर्ड होंगी। न्यायालय में विचाराधीन मामले, सूचना का अधिकार अधिनियम से संबंधित मामले, शासकीय कर्मचारियों के उनकी सेवा से संबंधित मामले इसमें दर्ज नहीं किए जाएंगे। आपको बताते चलें कि रिटायर्ड कर्मचारियों के पेंशन, मेडिकल आदि के मामले इसमें लिए जाएंगे। सीएम हेल्पलाईन के तहत विभागीय अधिकारियों की मैपिंग की गई है। इसके लिए चार लेवल बनाए गए हैं। एल-1 में ब्लाॅक या तहसील स्तर के अधिकारी, एल-2 में जिलाधिकारी या विभाग के जिला स्तर के अधिकारी निर्धारित होंगे।

यह भी पढें - पहाड़ में सदियों पहले बनी वो सीढ़ियां, जो दुनिया के सबसे खतरनाक रास्तों में शुमार है
इसके अलावा एल-3 में संबंधित विभाग के विभागाध्यक्ष व एल-4 में संबंधित विभाग के प्रमुख सचिव या सचिव निर्धारित किए गए हैं। प्रत्येक शिकायत के लिए निम्न से उच्चतर स्तर के लिए अग्रसारण की व्यवस्था है। सीएम हेल्पलाईन पर पंजीकृत शिकायतों को सबसे पहले संबंधित एल-1 के अधिकारियों को अग्रसारित किया जाएगा। शिकायत पंजीकृत कराने के बाद शिकायतकर्ता को एसएमएस द्वारा पावती प्राप्त होगी जिसमें पंजीकरण नम्बर के साथ शिकायत का विवरण होगा ताकि आगे जाकर इसकी ट्रेकिंग की जा सके। अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने कहा कि हेल्पलाईन के सिस्टम को यथासम्भव आसान व सुविधाजनक बनाया जाए। काॅलसेंटर के कर्मचारियों को अच्छी तरह से प्रशिक्षित किया जाना होगा। उन्हें सभी विभागों की कार्यप्रणाली की जानकारी होनी चाहिए।


Uttarakhand News: CM HELPLINE FOR UTTARAKHAND PEOPLE

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें