loksabha elections 2019 results

शहादत को सलाम: उत्तराखंड शहीद सिद्धार्थ नेगी के घर पहुंची रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण

उत्तराखंड शहीद सिद्धार्थ नेगी ने जाते जाते अदम्य साहस और शौर्य का परिचय दिया है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और सीएम त्रिवेंद्र शहीद के घर पहुंचे।

Nirmala sitharaman and trivendra singh rawat at sidharth nego house - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड शहीद, सिद्धार्थ नेगी, शहीद सिद्धार्थ नेगी, देहरादून न्यूज, देहरादून, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Uttarakhand Shaheed, Siddharth Negi, Shaheed Siddharth Negi, Dehradun News, Dehradun, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड का वो सपूत कई लोगों की जान बचाकर खुद मौत के मुंह में चला गया। शहीद सिद्धार्थ नेगी की जितनी तारीफ करें उतना कम है। देश की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत शहीद सिद्धार्थ नेगी के घर पहुंचे। शोक में डूबे परिवार को सांत्वना दी गई। आपको बता दें कि देहरादून के पंडितवाड़ी में शहीद सिद्धार्थ नेगी का परिवार रहता है। रक्षा मंत्री और सीएम त्रिवेंद्र ने घर जाकर शहीद के चित्र पर माल्यार्पण किया। आपको बता दें कि बेंगलुरु में शुक्रवार को ट्रेनी लड़ाकू विमान मिराज-2000 हादसे का शिकार हो गया। इस हादसे में 2 पायलटों की मौत हो गई। ये हादसा सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर हुआ। देश ने स्क्वॉर्डन लीडर समीर अबरोल और सिद्धार्थ नेगी के रूप में दो जांबाज खो दिए। सिद्धार्थ नेगी देहरादून के रहने वाले थे।

यह भी पढें - उत्तराखंड का सपूत...अपने जन्मदिन पर ही शहीद हो गया, सैकड़ों जानें बचाकर चला गया
Nirmala sitharaman and trivendra singh rawat at sidharth nego house
देहरादून के पंड़ितवाड़ी इलाके में सिद्धार्थ नेगी का परिवार रहता है।बताया जाता है कि सिद्धार्थ नेगी को जून 2009 में कमीशन किया गया था। वायुसेना के अधिकारियों के मुताबिक ये विमान आबादी वाले इलाके में गिर सकता था, लेकिन दोनों पायलटों की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया।

यह भी पढें - उत्तराखंड के सपूत ने अपनी जान देकर बचाई सैकड़ों जिंदगियां, बेंगलुरू में विमान क्रैश!
Nirmala sitharaman and trivendra singh rawat at sidharth nego house
अगर ये विमान आबादी वाले इलाके में गिरता, तो हाहाकार मच सकता था। लेकिन पायलट्स ने जबरदस्त क्षमता का परिचय दिय़ा। प्लेन में दो ही पायलट सवार थे। हादसे के वक्त दोनों प्लेन से बाहर निकल गए थे। एक पायलट की मौत प्लेन के मलबे पर गिरने से हो गई, जबकि दूसरे ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।


Uttarakhand News: Nirmala sitharaman and trivendra singh rawat at sidharth nego house

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें