त्रिवेंद्र का खुला ऐलान..’कांग्रेस में दम है तो परेड ग्राउंड में बड़ी स्क्रीन पर दिखाओ स्टिंग’

उत्तराखंड में सियासत गरमाई हुई है। हाल ही में कांग्रेस नेता इंदिरा हृदयेश ने कहा था कि उनके पास सत्ता पक्ष के स्टिंग हैं। सवाल ये है कि वो स्टिंग सामने कब आएंगे ?

Trivendra singh rawat on indira hridayesh - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, इंदिरा हृदयेश, त्रिवेंद्र सिंह रावत, बीजेपी उत्तराखंड, उत्तराखंड कांग्रेस, स्टिंग, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Indira Hridayesh, Trivendra Singh Rawat, BJP Uttarakhand, Uttarakhand Congress, Sting, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

अगर स्टिंग हैं, तो वो सार्वजनिक क्यों नहीं होते ? पब्लिक को आखिर कब तक सिर्फ वोट बैंक समझा जाएगा ? आखिर किस बात का इंतजार कर रही है कांग्रेस ?
हुआ यूं है कि उत्तराखंड में सियासत के उबाल ने पांचवां गियर पकड़ लिया है। नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने बयान दिया कि उनके पास सत्ता पक्ष से जुड़े लोगों और उनके परिवारों के स्टिंग हैं। इसके जवाब में सीएम त्रिवेंद्र ने कहा है कि अगर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के भीतर दम है तो वो अपने बयान को साबित करें और देहरादून के परेड ग्राउंड में बड़ी स्क्रीन पर इसे दिखाएं। सवाल ये है कि अगर कांग्रेस के पास वाकई में स्टिंग पड़े हैं, तो किस बात का इंतजार हो रहा है? त्रिवेंद्र का कहना है कि वो इस मसले पर कुछ बोलना नहीं चाह रहे थे लेकिन अब खुली चुनौती देते हैं कि इस स्टिंग को दिखाएं। इस बीच सीएम ने खुद एक बड़ी बात कही है। ये भी जानिए…

यह भी पढें - Video: केदारनाथ फिल्म के नाम पर देवभूमि से धोखा! सतपाल महाराज ने दी खुली वॉर्निंग
सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि हाल ही के निकाय चुनावों में इंदिरा हृदयेश ने उन्हें हल्द्वानी में हलका हाथ रखने का मैसेज भिजवाया था। आप जानते ही होंगे कि निकाय चुनाव में इंदिरा हृदयेश के पुत्र हल्द्वानी नगर निगम से मेयर पद के लिए कांग्रेस के टिकट पर खड़े हुए थे। उन्हें हार मिली थी। ऐसे में बीजेपी का कहना है कि हार की बौखलाहट इंदिरा हृदयेश के चेहरे पर साफ दिख रही है।
इस बीच इंदिरा हृदयेश का कहना है कि वो सीएम और उनके परिजनों से जुड़े स्टिंग सार्वजनिक नहीं करेंगी। अब सवाल ये है कि आखिर कांग्रेस के पास ये स्टिंग कहां से आए? जवाब में इंदिरा हृदयेश का कहना है कि न्यूज चैनल संचालक उमेश कुमार के करीबियों ने कांग्रेस से संपर्क किया और ये स्टिंग उपलब्ध करवाए।

यह भी पढें - ‘केदारनाथ’ फिल्म की प्रोड्यूसर गिरफ्तार, धोखाधड़ी के संगीन आरोप
सवाल ये है कि अगर कांग्रेस के पास वास्तव में स्टिंग पड़े हैं, तो उन्हें आखिर कब सार्वजनिक किया जाएगा? जवाब में इंदिरा हृदयेश का कहना है कि बीजेपी पहले लोकायुक्त का गठन करे और इसके बाद वो स्टिंग लोकायुक्त को सौंपेंगी।
किसी भी देस और राज्य की सत्ता में विपक्ष एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। उत्तराखंड में इसी विपक्ष का गजब हाल है। हाथ में स्टिंग है और सार्वजनिक करने से कतरा रहे हैं।
खैर अब तो सीएम ने भी साफ ऐलान कर दिया है कि अगर सच में कांग्रेस के हाथ स्टिंग हैं, तो उन्हें देहरादून के परेड ग्राउंड में बड़ी स्क्रीन पर दिखाया जाए। फिलहाल राजनीति गरमाई हुई है और स्टिंग की ये हवा आगे क्या तूफान लाएगी ? फिलहाल इसका इंतजार करना होगा।


Uttarakhand News: Trivendra singh rawat on indira hridayesh

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें