सुपरहीरो बना उत्तराखंड पुलिस का जांबाज ऑफिसर, DGP अनिल रतूड़ी ने भी दिया सम्मान

सुपरहीरो बना उत्तराखंड पुलिस का जांबाज ऑफिसर, DGP अनिल रतूड़ी ने भी दिया सम्मान

gagandeep awarded by Uttarakhand Police - uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand, उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड पुलिस,जांबाज ऑफिसर, DGP अनिल रतूड़ी, DGP anil raturi

हमने फिल्मों में बहुत देखा है कि किस तरह एक अकेला हीरो पूरी भीड़ के सामने डटकर खड़ा हो जाता है और किस तरह एक निहत्थे इंसान को बचा लेता है। उत्तराखंड में भी ऐसे ही एक हीरो ने भीड़ से एक शख्स को बचाया था। उत्तराखंड पुलिस में सब-इंस्पेक्टर गगनदीप सिंह। जिन्होंने एक मुस्लिम युवक को मॉब लिंचिंग का शिकार होने से बचाया था। उनकी इसी बहादुरी को देखते हुए प्रदेश सरकार ने उन्हें 15 अगस्त के मौके पर ‘सराहनीय सेवा सम्मान चिह्न’ दिया। उन्हें ये सम्मान राज्य के डीजीपी अनिल रतूड़ी ने मेडल पहनाकर दिया। नैनीताल जिले के रामनगर में प्रसिद्ध गिरिजा देवी के मंदिर में 22 मई 2018 को एक आयोजन चल रहा था। जिसमें काफी बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। इस दौरान लोगों की नजर मंदिर के पास की नदी के किनारे पर पड़ी जहां एक प्रेमी जोड़ा बैठा हुआ था। लोगों ने दोनों से पूछताछ की तो पता चला कि लड़की हिन्दू समुदाय से है, तो वहीं लड़का मुस्लिम है जिसपर कुछ देर में ही हंगामा शुरू हो गया था।

यह भी पढें - Video: उत्तराखंड के सिख पुलिसवाले की देश में तारीफ, सोशल मीडिया पर बना सुपरहीरो
वहां मौजूद कुछ हिन्दू संगठनों ने युवक की पिटाई शुरू कर दी। इस दौरान सब-इंस्पेक्टर गगनदीप सिंह की ड्यूटी मंदिर परिसर के आसपास ही थी। जैसे ही उन्हें इस बात की सूचना मिली वो तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे। और अकेले ही भीड़ से मुस्लिम युवक को बचाने की कोशिश करने लगे। काफी मशक्कत के बाद आखिरकार उन्होंने उस युवक को भीड़ के बीच से सुरक्षित बाहर निकाल लिया। घटना का ये विडियो देखिये...

यह भी पढें - उत्तराखंड में इस बार ऐतिहासिक होंगे छात्रसंघ चुनाव, ये नियम तोड़े तो छात्र नेताओं की खैर नहीं
इसके बाद सोशल मीडिया पर इस घटना की तस्वीरें खूब वायरल हुई। और सब-इंस्पेक्टर गगनदीप सिंह सिर्फ देश ही नहीं विदेशों में भी चर्चा का विषय बन गए। देश और विदेशों में इन फोटो को खूब कवरेज मिली। हालाकि मुट्टी भर कट्टरपंथियों ने उनके खिलाफ नाराजगी जाहीर की। लेकिन इसके मुकाबले दुनिया भर में उत्तराखंड पुलिस के इस जाबाज़ की जमकर वाहवाही हुई। हम भी ऐसे बहादुर पुलिसकर्मी को सलाम करते है और उम्मीद करते है कि पुलिस महकमे के साथ साथ आम नागरिक भी इनसे सीख ले। इस घटना के बाद ये खबर भी खूब प्रचारित की गयी कि प्रदेश की भाजपा सरकार गगनदीप सिंह से नाराज है और इसी कारण उन्हें छुट्टी पर भी भेज दिया है क्यूंकि गगनदीप सिंह का ये काम भाजपा सरकार के हिंदुत्ववादी अजेंडे से मेल नहीं खाता है। पर हकीकत में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है क्यूंकि कोई भी मैडल सरकार ही देती है और सरकार की तरफ से ही DGP अनिल रतूड़ी उनके सीने पर मैडल टांका है।


Uttarakhand News: gagandeep awarded by Uttarakhand Police

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें