देवभूमि में मौसम के कहर से दो दिन में 10 मौत, अगले 24 घंटे 7 जिलों के लोग सतर्क रहें

देवभूमि में मौसम के कहर से दो दिन में 10 मौत, अगले 24 घंटे 7 जिलों के लोग सतर्क रहें

uttarakhand 10 people died due to heavy rain  - uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand, उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज़, heavy rain

खबर है कि चमोली के थराली में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। उत्तराखंड में बारिश के कहर से दो दिन के भीतर मरने वालों की संख्या 10 पहुंच गई है। बीते लंबे वक्त से उत्तराखंड के लिए मौसम विभाग द्वारा चेतावनियां दी जा रही हैं और ये भी देखा जा रहा है कि ये भविष्यवाणियां सच भी साबित हो रही हैं। जहां तहां बारिश, बादल फटने, बिजली गिरने, सड़कें टूटने और भूस्खलन की खबरें आ रही हैं। चमोली से लेकर बागेश्वर, रुद्रप्रयाग से लेकर नैनीताल और देहरादून से लेकर पिथौरागढ़ तक लोगों के दिलों में रह-रहकर खौफ पैदा हो रहा है। आसमान से बरसती आफत हर किसी के लिए परेशानी का सबब बन रही हैं। अब उत्तराखंड के 7 जिलों में अगले 24 घंटे बेहद खतरनाक साबित हो सकते हैं।

यह भी पढें - पहाड़ के कोट गांव की बबली अकेली रह गई, आपदा में परिवार के 7 लोगों को खो दिया
मौसम विभाग ने दिन दिन पहले ही बता दिया था कि 30 अगस्त से उत्तराखंड में जगह जगह भारी से भारी बारिश हो सकती है। अब 7 जिलों के लोगों को बेहद सावधान रहने की जरूरत है। मौसम विभाग के अनुसार, एक से तीन सितंबर तक उत्तराखंड में बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है। खासतौर पर चंपावत, नैनीताल, चमोली, ऊधमसिंह नगर, रुद्रप्रयाग, पौड़ी और देहरादून में बेहद बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो सकता है। इन सात जिलों में जिलाधिकारियों को अलर्ट मोड पर रखा गया है। आपदा, राहत और बचाव टीमों को ज्यादा सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। देहरादून मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया है कि बहुत ज्यादा बारिश के अनुमान को देखते हुए अगले तीन दिन मैदानी क्षेत्र के निचले इलाकों में सभी को सावधान रहने की जरूरत है। शासन को भी इस बारे में सतर्क कर दिया गया है।

यह भी पढें - उत्तराखंड की बेटी से चलती बस में छेड़छाड़, दिल्ली के रास्ते में हुआ शर्मनाक कांड!
आपको बता दें कि थाती बूढाकेदार के कोट गांव में दो दिन पहले बादल फटा था। बादल फटने के बाद पानी और मलबे का कहर एक घर पर टूटा। खबर है कि इस भीषण भूस्खलन में घर में मौजूद 7 लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा चमोली जिले के फरखेत गांव मेंं जबरदस्त भूस्खलन आ गया। बताया जा रहा है इस भूस्खलन में दो सगे भाई मलबे में ज़िंदा दफन हो गए। पूरे क्षेत्र में अफरा तफरी मच गई। इस वजह से अपने घर में सो रहे गब्बर लाल और शब्बर लाल की मौत हो गई। उधर बागेश्वर में तो हाहाकार ही मचा है। कपकोट गांव में बादल फटने से सरजू नदी उफान पर है। सरयू नदी खतरे के निशान से काफी ऊपर बह रही है। बादल फटने की वजह से सड़कों पर भारी भूस्खलन हो रहा है। अकेले बागेश्वर जिले में एक दर्जन से ज्यादा मार्ग बंद हो गए हैं।


Uttarakhand News: uttarakhand 10 people died due to heavy rain

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें