loksabha elections 2019 results

उत्तराखंड में जगह-जगह प्रकृति का प्रकोप, अगले 24 घंटे 7 जिलों के लिए खतरनाक हैं

उत्तराखंड में जगह-जगह प्रकृति का प्रकोप, अगले 24 घंटे 7 जिलों के लिए खतरनाक हैं

land slide and river water lavel in uttarakhand  - uttarakhand land slide, uttarakhand river , uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,,उत्तराखंड,

प्रकृति का प्रकोप इस वक्त उत्तराखंड में देखने को मिल रहा है। कहीं 1300 यात्री फंस गए, कहीं लोग घर छोड़कर भागने लगे, कहीं बादल फट रहा है और कहीं आसमान से बिजली गिरकर सब कुछ तबाह कर रही है। ये हाल है इस वक्त उत्तराखंड का। चमोली जिले में देर रात से तेज बारिश का सिलसिला जारी है।जोशीमठ और पांडुकेश्वर में करीब 1300 यात्रियों को रोक दिया गया है। टनकपुर-चम्पावत राजमार्ग पर मलबा आ गया और कई वाहन इसमें फंस गए। कोटद्वार में बरसाती नाले ने विकराल रूप ले लिया है और इसमें एक महिला के बहने की खबर है। खौफज़दा लोगों ने अपने अपने घर छोड़ दिए हैं। कई खेत बह गए और बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं। नदियों के उफान पर आने से खौफजदा लोगों ने अपने घर छोड़ दिए हैं। आसपास के लोगों ने अपने घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों का रूख कर लिया है।

यह भी पढें - देहरादून और रुद्रप्रयाग में बादल फटा, ऋषिकेश में बिजली गिरी..खतरे के निशान पर गंगा
रुद्रप्रयाग जिले में हाल बेहाल हैं। तोशी गांव में बादल फटने की खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि गौरीकुंड नेशनल हाईवे फाटा के पास बंद पड़ा हुआ है। रह-रहकर लोगों के दिलों में खौफ पैदा हो रहा है। उधर थराली में पानी और बिजली की सप्लाई बंद हो गई है। पिंडर नदी जबरदस्त उफान पर है। चमोली के बैनोली गांव में भारी बारिश की वजह से लगातार भूस्खलन हो रहा है। इस वक्त पहाड़ों में बहने वाली नदियां यानी मंदाकिनी, अलकनंदा, पिंडर, गोरी, काली, शारदा और सरयू नदी का जलस्तर बढ़ा हुआ है। नदियों के किनारे रहने वाले लोगों को हटा लिया गया है। हरिद्वार और ऋषिकेश में गंगा खतरे के निशान को छू रही है। ऋषिकेश के त्रिवेणी घाट के मुख्य प्लेटफार्म में गंगा का पानी पहुंच चुका है। ऋषिकेश में कल ही खबर आई थी कि आसमानी बिजली गिरने से दो मकानों की दीवारें फट गई।

यह भी पढें - उत्तराखंड में भारी बारिश और तबाही, खतरे के निशान पर पहुंची नदियां..7 जिलों में अलर्ट
अब मौसम विभाग ने एक बार फिर से अलर्ट जारी किया है। बताया गया है कि अगले 24 घंटे भयंकर बारिश हो सकती है। इसके लिए ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। देहरादून, पौड़ी, हरिद्वार, पिथौरागढ़, नैनीताल, ऊधमसिंह नगर और चंपावत के लोगों को अलर्ट रहने के लिए कह दिया गया है। सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट मोड पर रखा गया है। जगह जगह आपदा राहत टीमों को सतर्क किया गया है। उच्च हिमालयी क्षेत्रों में पर्यटकों की आवाजाही रोकने के आदेश दिए गए हैं। रात आठ बजे से सुबह पांच बजे तक आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर बाकी वाहनों का संचालन बंद करने के निर्देश दिए हैं। एसडीआरएफ और NDRF को हर जगह तैयार कर दिया गया है। बंद सड़कों को खोलने के लिए पीडबल्यूडी, सीपीडब्ल्यूडी, बीआरओ समेत बाकी एजेंसियों को भी तैयार रखा गया है।


Uttarakhand News: land slide and river water lavel in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें