loksabha elections 2019 results

उत्तराखंड में अभी 10 फीसदी कम बारिश हुई है, इसी में इतनी तबाही है..आगे क्या होगा ?

उत्तराखंड में अभी 10 फीसदी कम बारिश हुई है, इसी में इतनी तबाही है..आगे क्या होगा ?

Rain report in uttarakhand  - Uttarakhand rain, uttarakhand weather, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,,उत्तराखंड,

उत्तराखंड में फिलहाल मौसम जगह जगह कहर बरपा रहे हैं। आलम ये है कि सैकड़ों सड़कें बंद पड़ी हैं। जगह जगह मलबा टूटकर गिर रहा है। कहीं नदियां उफान पर हैं, तो कहीं बाढ़ के बीच फंसी जिंदगियां चीख-पुकार कर रही हैं। इस बीच मौसम विभाग ने एक हैरान कर देने वाली रिपोर्ट पेश की है। रिपोर्ट बताती है कि अभी उत्तराखंड में दस फीसदी कम बारिश हुई है। हम आपको बकायदा हर जिले के आंकड़े बता रहे हैं। उत्तराखंड में मानसून सीजन के दौरान एवरेज 1229 मिलीमीटर बारिश होती है। लेकिन इस साल 1 जून से शुरू हुए मानसून से अब तक सिर्फ 554.6 मिलीमीटर ही बारिश हो पाई है। कुछ जिले ऐसे हैं, जहां बारिश भी नहीं हुई है। इसके बाद भी उत्तराखंड में जगह जगह मौसम ने कोहराम मचाया हुआ है। अब जरा अपने जिले के आंकड़े भी देख लीजिए।

यह भी पढें - उत्तराखंड पर खतरा..अगले 24 घंटे 4 जिले सावधान रहें, बारिश और बाढ़ की चेतावनी
अल्मोड़ा में एक जून से अब तक 225.3 मिलीमीटर बारिश हुई है, जबकि यहां औसतन 443.1 मिलीमीटर बारिश होती है। देहरादून में औसतन 896.1 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 844.6 एम एम बारिश हुई है। चंपावत में औसतन 696 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 567 एम एम बारिश हुई है। पौड़ी में औसतन 592.3 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 255.9 एम एम बारिश हुई है। टिहरी में औसतन 525.4 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार361.9 एम एम बारिश हुई है। हरिद्वार में औसतन 448.9 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 442.6 एम एम बारिश हुई है। नैनीताल में औसतन 740.3 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 650 एम एम बारिश हुई है। बाकी जिलों का हाल भी जानिए।

यह भी पढें - कहर बनकर टूटा मौसम.. देहरादून, हरिद्वार, अल्मोड़ा में मकान ढहे...चमोली में फटे बादल
पिथौरागढ़ में औसतन 877.4 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 804.6 एम एम बारिश हुई है। रुद्रप्रयाग में औसतन 826.7 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 717.7 एम एम बारिश हुई है। उधमसिंह नगर में औसतन 564.7 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 344.8 एम एम बारिश हुई है। उत्तरकाशी में औसतन 544.1 एमएम बारिश होती है जबकि यहां इस बार 544 एम एम बारिश हुई है। बागेश्वर में 720 मिलीमीटर बारिश हुई है जबकि यहां औसत रूप से 443.1 मिलीमीटर बारिश होती है। चमोली जिले में 613.7 एमएम बारिश हुई है, जबकि यहां औसत बारिश 413.9 एमएम होती है। ये आंकड़े कहते हैं कि कई जिलों में अभी आधी बारिश भी नहीं हुई है। मौसम विभाग का कहना है कि अभी 1 सितंबर तक मानसून रहेगा। इसलिए जिलों में परेशानी और बढ़ सकती है।


Uttarakhand News: Rain report in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें