loksabha elections 2019 results

Video: उत्तराखंड के रोशन रतूड़ी फिर बने देवदूत, चार दिन की कड़ी मेहनत के बाद बचा राहुल

Video: उत्तराखंड के रोशन रतूड़ी फिर बने देवदूत, चार दिन की कड़ी मेहनत के बाद बचा राहुल

Roshan raturi save azamgarh boy life  - उत्तराखंड न्यूज, रोशन रतूड़ी ,उत्तराखंड,

यूपी के आजमगढ़ का रहने वाला राहुल ना जाने कितने वक्त से दुबई में फंसा हुआ था। घर को देखे हुए ना जाने कितना लंबा वक्त बीत गया। मन में डर था, दिल बार बार इस खौफ से भर आता था कि कभी अपने मुल्क जा पाऊंगा या नहीं ? ये सोच-सोचकर राहुल अवसाद जैसी हालत में जा पहुंचा था। वो तो शुक्र के उत्तराखंड के सपूत रोशन रतूड़ी का, जो एक बार फिर से एक जिंदगी के लिए देवदूत बने। अब राहुल के चेहरे पर मुस्कान देखिए। राहुल कह रहा है कि ‘मैं रोशन रतूड़ी का धन्यवाद करता हूं, उन्होंने हमारे लिए बहुत कुछ किया है।’ राहुल आगे कहते हैं कि ‘रोशन रतूड़ी लगातार चार दिन से मेहनत कर रहे हैं और आज हमें हमारे वतन वापस भेज रहे हैं।’ राहुल आगे कहते हैं कि ‘मैनें रोशन रतूड़ी से बहुत कुछ सीखा है और आगे भी उनकी तरह मानवता की सेवा करूंगा।’

यह भी पढें - Video: उत्तराखंड के सपूत ने वो कर दिखाया, जो देश में आज तक कोई कर नहीं पाया
जरा सोचिए अब तक रोशन दुनियाभर में कितने लोगों के लिए प्रेरणा बन रहे हैं। भाईचारे और एकता की मिसाल बने रोशन की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। रोशन रतूड़ी अब 555 लोगों की जिंदगी बचा चुके हैं। टिहरी के हिंडोलाखाल के रोशन रतूड़ी एक ऐसे युवा हैं, जो ना जाने कितने साल पहले दुबई चले गए थे। दुबई में लगातार वक्त बिताया और इंसानियत के लिए काम करने की ठान ली। लगातार काम करने की वजह से रोशन रतूड़ी कई बार बीमार भी पड़ जाते हैं। इसके बाद भी काम करने का जज्बा उनके दिल को जिंदा रखता है। रोशन बताते हैं कि कई बार ऐसा भी वक्त आता है, जब दो दो दिन तक खाना भी भूल जाते हैं। उत्तराखंड के इस युवा ने मानवता की मशाल जगाकर अभी तक 555 लोगों को थामी है। आगे भी इंसानियत की इसी तरह से सेवा होती रहे, ये ही रोशन रतूड़ी की तमन्ना है।

यह भी पढें - उत्तराखंड का सपूत...दुबई के बाद श्रीलंका में भी बना देवदूत, तीन पहाड़ियों को बचाया
आपको बमुश्किल ही कोई ऐसा चेहरा याद होगा, जिसने अपने जीवन काल में इतने लोगों की जान बचाई होगी। एक बड़े मंच और एक बड़े सम्मान के हकदार हैं रोशन रतूड़ी। उत्तराखंड इस सपूत ने जो मुहिम छेड़ी है, वो सच में काबिल-ए-तारीफ है। अब आप भी ये वीडियो देखिए।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: Roshan raturi save azamgarh boy life

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें