उत्तराखंड में पहली बार, टिहरी झील में होगी कैबिनेट मीटिंग, रोजगार के लिए होगा बड़ा काम !

उत्तराखंड में पहली बार, टिहरी झील में होगी कैबिनेट मीटिंग, रोजगार के लिए होगा बड़ा काम !

Cabinet meeting in tehri lake of uttarakhand - टिहरी झील, उत्तराखंड न्यूज, रोजगार,उत्तराखंड,

ये बात सच है कि पहाड़ों का पानी और जवानी पहाड़ के ही काम नहीं आई। पलायन और बढ़ती बेरोजगारी लगातार घरों को खाली कर रही है। ऐसे में सरकार द्वारा एक अलग कोशिश की जा रही है। खबर है कि देश की सबसे बड़ी झीलों में शुमार की गई उत्तराखंड की टिहरी झील में मंत्रिमंडल की बैठक होगी। सरकार ने इसके पीछे दिलचस्प वजह भी बताई है। सरकार के मुताबिक इस तरह से टिहरी झील को देश और दुनिया के पर्यटन मानचित्र पर उभारा जाएगा। पलायन रोकने के लिए और रिवर्स पलायन को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा पलायन आयोग की वेबसाइट की लॉन्चिंग होनी है। इस वेबसाइट में आम जनता भी पलायन को लेकर अपने सुझाव सरकार को बता सकेगी। सरकार की मंशा है कि पर्यटन को आमदनी और रोजगार का मुख्य जरिया बनाया जा सके। इसकी शुरुआत टिहरी में भागीरथी पर बनी झील से होगी। यह भी पढें - Video: हरीश रावत ने त्रिवेंद्र सिंह रावत के बारे में ये क्या कह दिया ? ये तो गजब ही हो गया
यह भी पढें - त्रिवेंद्र सरकार का बड़ा फैसला, उत्तराखंड में धर्म परिवर्तन पर गैर जमानती वांरट, 5 साल की कैद

बताया जा रहा है कि यहां पर्यटन विकास की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए मोदी सरकार की भी मदद ली जाएगी। खबर है कि यहां रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए ओएनजीसी की मदद ली जाएगी। इसके अलावा खबर है कि बद्रीनाथ धाम को विकसित करने के लिए एनटीपीसी की मदद ली जाएगी। सरकार को पूरी उम्मीद है कि पर्यटन के जरिए रोजगार के क्षेत्र में बड़ा काम किया जाएगा। सरकार का मानना है कि इससे स्वरोजगार के काफी मौके पैदा होंगे। पलायन पर रोक लगाने के लिए यहां विशेषज्ञों के साथ आम लोगों की भागीदारी भी सुनिश्चित होगी। इसके साथ ही सरकार की मंशा है कि टिहरी की झील को पर्यटन के मुख्य आकर्षण के तौर पर पेश किया जाए। इसके लिए तमाम कोशिशें भी शुरू कर दी गई हैं। अब तक यहां टिहरी महोत्सव का आयोजन होता रहा है।यह भी पढें - CM त्रिवेंद्र ने शुरू की बड़ी पहल, हर रविवार को जनता के बीच रहेंगे, इस जगह से हुई शुरुआत
यह भी पढें - त्रिवेंद्र सरकार की बड़ी कार्रवाई, अब तक 20 गिरफ्तार, हरीश रावत तक पहुंची जांच की आंच!

इसके बाद भी सरकार का मानना है कि देश और दुनिया में तीर्थाटन और धार्मिक पर्यटन के अलावा भी देवभूमि की पहचान स्थापित होने चाहिए। खूबसूरत पर्यटक स्थल के तौर पर देवभूमि ती पहचान स्थापित करने की कोशिश की जा रही है। कुल मिलाकर कहें तो टिहरी झील को दुनिया में एक नई पहचान देने के लिए सरकार तैयारी कर रही है। सूत्रों के मुताबिक यहां जल्द ही मंत्रि मंडल की बैठक बुलाई जा सकती है। बताया जा रहा है कि सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत की इस मामले में काफी रुचि भी है। आपको बता दें कि टिहरी की झील अपनी खूबसूरती के लिए देश और दुनिया में लगातार लोकप्रिय हो रही है। इस वजह से सरकार यहां पर्यटन को और बढ़ावा देना चाहती है। अब सवाल ये है कि क्या टिहरी झील में मंत्रिमंडल की बैठक से इस काम में कामयाबी मिल सकेगी ? सवाल ये भी है कि क्या बेरोजगारी और पलायन खत्म करने में सरकार पास होगी ?


Uttarakhand News: Cabinet meeting in tehri lake of uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें