Video: विदेश में देवदूत बना एक उत्तराखंडी, आज देश को ऐसे युवाओं की दरकार है !

Video: विदेश में देवदूत बना एक उत्तराखंडी, आज देश को ऐसे युवाओं की दरकार है !

Roshan raturi become surviver for indians in dubai - रोशन रतूड़ी, उत्तराखंड न्यूज, दुबई ,उत्तराखंड,

उत्तराखंडी जो कहते हैं, वो कर के दिखाते हैं। ये उत्तराखंड के लोग ही हैं, जो कई बार मुश्किल हालात में फंसे लोगों के लिए देवदूत बन गए। चाहे देश की रक्षा की ही बात क्यों ना हो, या फिर किसी के मान सम्मान की ही बात क्यों ना हो। हर बार देखा गया है कि उत्तराखंड के लोगों ने अपने तन मन और धन से लोगों की सेवा की है। ऐसे ही एक और उत्तराखंडी हैं रोशन रतूड़ी। रोशन रतूड़ी आज एक नहीं बल्कि हजारों युवाओं और हजारों परिवारों के लिए देवदूत बन गए हैं। रोशन रतूड़ी दुबई में रहते हैं लेकिन दिल आज भी उत्तराखंड के लिए धड़कता है। उस युवा ने साबित किया है कि अगर देश के लिए कुछ कर गुजरना है तो आवाज उठानी होगी और कुछ कर गुजरना होगा। हाल ही में रोशन रतूड़ी ने एक गढ़वाली युवक को दुबई की नरक भरी जिंदगी में फंसने से बचा दिया।

रोशन रतूड़ी ने बकायदा एक वीडियो शेयर किया है, जो हम आपको दिखा रहे हैं। रोशन ने लिखा है कि ‘एक और ज़िन्दगी को बचाने की खुशी’। वो आगे लिखते हैं कि ‘एक शख्स दुबई में बहुत तकलीफ में फंस गये थे। लेकिन मेरे एक छोटे से जोखिम भरा प्रयास से आज अनिल जी को मुसीबतों से, तकलीफ़ों से निकालकर उनके परिवार के पास अपनों से मिलाने जा रहा हूं। अनिल जनार्दन जोशी टिहरी गढ़वाल ,उतराखंड राज्य के रहने वाले है आज वो बहुत खुश है। अनिल जोशी का परिवार बहुत दुखी था और हमेशा रोशन रतूड़ी के सम्पर्क में बना था। रोशन ने कहा कि उन्होंने वादा किया कि 26 अक्टूबर से पहले अनिल जोशी को वतन भेज देंगे। इंसानियत हमेशा ज़िन्दा रहनी चाहिए।रोशन कहते हैं कि उतराखनड का नाम विश्व के हर कोने तक मानवता सेवा में सबसे ऊपर होना चाहिए ।

इसके साथ ही रोशन रतूड़ी ने अनिल जोशी के साथ एक वीडियो शेयर किया है। राज्य समीक्षा से बातचीत में रोशन रतूड़ी ने कहा कि आने वाले वक्त में वो उत्तराखंड के लिए बहुत कुछ करने जा रहे हैं। खास तौर पर उनकी मांग है कि गढ़वाली और कुमाऊंनी बोली को अब भाषा का दर्जा दिया जाए और इसके लिए अलग लिपि तैयार हो। रोशन का मानना है कि इस वक्त उत्तराखंड के लोग हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहे हैं लेकिन अपनी जड़ों को कभी भी नहीं भुलाना चाहिए।


Uttarakhand News: Roshan raturi become surviver for indians in dubai

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें