देवभूमि को बॉलीवुड सिंगर कैलाश खेर का प्रणाम, उत्तराखंड के लिए बोले बड़ी बात !

देवभूमि को बॉलीवुड सिंगर कैलाश खेर का प्रणाम, उत्तराखंड के लिए बोले बड़ी बात !

Kailash kher to make songs for uttarakhand  - उत्तराखंड न्यूज, कैलाश खेर, uttarakhand news, kail,उत्तराखंड,

उत्तराखंड हमेशा से ही देश दुनिया के साथ साथ फिल्मी सितारों के लिए भी स्वर्ग रहा है। बार बार देखा गया है कि कई फिल्मी सितारे इस धरती को प्रणाम करने आते हैं। इस कड़ी में महादेव के भक्त कहे जाने बॉलीवुड सिंगर कैलाश खेर भी हैं। कैलाश कहते हैं कि देवभूमि से बढ़कर इस दुनिया में कोई भी जगह नहीं है। उनका मानना है कि देवभूमि के अनछुए सौंदर्य और आध्यात्मिकता को दुनिया के सामने लाने की जरूरत है। कैलाश खेर ने इसके साथ ही केदारनाथ, बद्रीनाथ, नीलकंठ,पाताल भुवनेश्वर और जागेश्वर जैसे धामों के बारे में भी बड़ी बात कही। उन्होंने कहा कि इन पवित्र स्थलों की आध्यात्मिकता हमेशा से ही दुनिया को अचंभित करती रही है। उन्होंने बताया कि इन जगहों की आध्यात्मिक ऊर्जा को संगीत के जरिए दुनिया में पेश किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कई और बातें भी बताई।

दरअसल संगीत एक सकारात्मक सोच होती है जो इंसान की मनोवृत्ति को विकसित करती है। कैलाश खेर खुद एक बहुत बड़े सिंगर हैं। वो अब तक ना जाने कितने ही सुपरहिट गीतों के जरिए अपनी आवाज का लोहा मनवा चुके हैं। कैलाश ने देवभूमि के लिए जय केदारा गीत भी गाया था, जिसमें उन्होंने बॉलीवुड के कई सितारों को अपने साथ जोड़ा था। कैलाश खेर ने दरअसल सचिवालय में महानिदेशक सूचना डॉ.पंकज पांडेय से मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने कहा कि वो संगीत की छोटी-छोटी प्रस्तुतियों के जरिए उत्तराखंड के सौंदर्य और आध्यात्मिकता को दुनिया के सामने पेश करने की कोशिश कर रहे हैं। कैलाश हमेशा से ही उत्तराखंड के मुरीद रहे हैं। उनके मुताबिक दुनिया इस वक्त कोई भी ऐसी जगह नहीं है, जैसी उत्तराखंड है। इसके पीछे कुछ खास वजहें भी हैं, इन वजहों के बारे में भी जानिए।

दरअसल उत्तराखंड में कई जगहें ऐसी हैं, जिनके बारे में दुनिया को पता ही नहीं हैं। जैसे जैसे इन जगहों के बारे में दुनिया को पता चलता है, तो वो उस जगह को देखने के लिए बैचेन हो जाते हैं। इस वजह से आज भी उत्तराखंड कई मायनों में दुनिया से काफी अलग है। महानिदेशक सूचना डॉ. पांडेय ने कहा कि राज्य सरकार पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लगातार कोशिश कर रही है। फिलहाल चारधाम यात्रा बेहद सफल रही है। कैलाश का मानना है कि देवभूमि की आध्यात्मिकता के बारे में दुनिया का जानना जरूरी है। इसलिए वो ऐसे छोटे छोटे गीत तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं, जिनके माध्यम से दुनिया के पता चल सके कि उत्तराखंड सच में देवभूमि है। खैर राज्य समीक्षा की टीम की तरफ से कैलाश खेर को हार्दिक बधाई, जो उत्तराखंड के लिए ये बेहतरीन काम कर रहे हैं।


Uttarakhand News: Kailash kher to make songs for uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें