उत्तराखंड में कोहराम, बारिश के बाद भूस्खलन शुरू, इन जगहों पर ना जाएं !

उत्तराखंड में कोहराम, बारिश के बाद भूस्खलन शुरू, इन जगहों पर ना जाएं !

Land sliding in uttarakhand  - Uttarakhand news, land slide, उत्तराखंड न्यूज, भूस,उत्तराखंड,

लीजिए, जिस बात का डर था, वो ही हो रहा है। उत्तराखंड के लिए मौसम विभाग पहले ही चेतावनी जारी कर चुका था कि इस बार देवभूमि में भारी बारिश होने जा रही है। इससे पहले शनिवार को मौसम विभाग ने कहा था कि आने वाले 72 घंटे काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं। ऐसे मइस भविष्यवाणी का असर भी दिख रह है। अगले 72 घंटे उत्तराखंड के लिए और भी ज्यादा खतरनाक साबित हो सकते हैं। मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर प्रशासन भी सतर्क हो गया है। पौड़ी जिले में प्रशासन ने सोमवार को स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है। अधिकांश हिस्सों में बारिश हो रही है। भूस्खलन की वजह से चारधाम यात्रा मार्गों के खुलने और बंद होने का सिलसिला जारी है। चमोली में लगातार हो रही बारिश के चलते बदरीनाथ हाईवे लामबगड़ में अवरुद्ध है। चोपता-केदारनाथ हाईवे भी गोपेश्वर मंडल में भूस्खलन से दो जगह बंद है।

कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाडवे भी नारायणबगड़ के पास बंद है। रुद्रप्रयाग में सुबह से बारिश के दौर जारी है। हालंकि इस बीच रुद्रप्रयाग-केदारनाथ मार्ग खुला है। उधर श्रीनगर से पहले कौडियाला में भूस्खलन से बदरीनाथ हाईवे बंद पड़ा है। इससे श्रीनगर और रुद्रप्रयाग तक भी यात्री नहीं पहुंच पा रहे हैं। उत्तरकाशी में दो दिन से लगातार बारिश हो रही है। इस वजह से गंगोत्री नेशनल हाईवे थिरांग के पास भूस्खलन से बंद हो गया है। उधर ओजरी, बढ़िया के पास भूस्खळन होने से यमुनोत्री नेशनल हाईवे बंद पड़ा है। इस रास्ते में देविधार रेणुबास के पास पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं। देहरादून, ऋषिकेश, हरिद्वार के साथ ही गढ़वाल और कुमाऊं मंडल के अधिकांश स्थानों पर बारिश हो रही है। पिथौरागढ़ के सानीखेत गांव में भूस्खलन हो गा है। इस वजह से 14 घर खतरे की जद में हैं। प्रशासन ने इन परिवारों को गांव छोड़ दूसरी जगह शिफ्ट होने का नोटिस थमाया है।

गांव में राजस्व विभाग की टीम तैनात कर दी गई है। वहीं, बारिश के चलते टनकपुर-तवाघाट हाईवे दो जगह लखनपुर और दौबाट में बंद हो गया है। मौसम विभाग के मुताबिक कि अगले तीन दिन पूरे राज्य में जोरदार बारिश के आसार है। पांच जिलों में बहुत भारी बारिश होगी। पर्वतीय क्षेत्रों में भूस्खलन और मैदानी इलाकों में जलभराव की दिक्कत आ सकती है। इस वक्त उत्तराखंड के लिए सबसे बड़ी मुश्किल बारिश और भूस्खलन है। जहां देखिए वहां जमीन ढह रही है। लग रहा है मानों प्रकृति रौद्र रूप में है। इस वकत् आपके भी सावधान रहने की काफी जरूरत है। ज्यादा से ज्यादा प्रशासन के संपर्क में रहें। कहीं भी कोई अप्रिय घटना दिखे तो तुरंत इस बारे में प्रशासन को जानकारी दें। इसके साथ ही दूसरों की मदद के लिए आगे बढ़ें। सरकार ने इसके लिए जगह जगह प्रशासन और आपात कालीन सेवा को अलर्ट पर रखा हुआ है।


Uttarakhand News: Land sliding in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें