नहीं रहे उत्तराखंड आंदोलनकारी वेद उनियाल, देश ने दी नम आंखों से विदाई!

नहीं रहे उत्तराखंड आंदोलनकारी वेद उनियाल, देश ने दी नम आंखों से विदाई!

ved uniyal passed away - उत्तराखंड न्यूज, देव उनियाल, uttarakhand news, dev,उत्तराखंड,

उत्तराखण्ड को अलग राज्य का दर्जा दिलाने वाले, आंदोलन के वक्त सबसे आग खड़े होने वाले, उत्तराखंड की एक बड़ी शख्शियत अब हमारे बीच नहीं रही। वो वेद उनियाल ही थे, जिन्होंने अग उत्तराखंड के लिए हुंकार भरी थी। देहरादून में लंबे वक्त से वेद उनियाल बीमार चल रहे थे। एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। वे उनियाल जी उत्तराखण्ड क्रांति दल के पूर्व महासचिव और थिंक टैंक भी रह चुके हैं। 64 साल के वेद उनियाल अपने पीछे पत्नी को छोड़ गए हैं। आज से 3 साल पहले वेद उनियाल जी के पुत्र रवि उनियाल जी ने भी इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। दुखों का ऐसा पहाड़ टूटेगा इस परिवार पर, शायद किसी ने सोचा भी नहीं था। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्य आंदोलनकारी वेद उनियाल के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। सीएम त्रिवेंद्र ने ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति की कामना की है।

इसके साथ ही सीएम त्रिवेंद्र रावत ने दुख की इस घड़ी में उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करने की कामना की है। वेद उनियाल को थिंक टैंक कहा जाता था। उन्होंने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत छात्र रहते हुए कर ली थी। वो डीएवी कॉलेज के महासचिव भी रह चुके हैं। उत्तराखंड आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए उन्हें हमेशआ याद किया जाएगा। राज्य आंदोलन के दौरान उनियाल ने न सिर्फ वैचारिक जागरूकता फैलाने का काम किया था, बल्कि सड़कों पर उतरकर जोरदार संघर्ष किया था। हरिद्वार में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। रविवार की सुबह अपने देहरादून में उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन का समाचार मिलते ही बड़ी संख्या में राज्य आंदोलनकारी उनके आवास पर पहुंच गए। महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुशीला बलूनी, पूर्व मंत्री हीरा सिंह बिष्ट, यूकेडी के संरक्षक बीडी रतूड़ी समेत कई लोग शामिल थे।

रविवार दोपहर हरिद्वार के खड़खड़ी घाट पर उनियाल का अंतिम संस्कार कर दिया गया।वेद उनियाल जी के पार्थिव शरीर में यूकेडी का झंडा लपेटा गया था। इस मौके पर यूकेडी के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री दिवाकर भट्ट मौजूद थे। इसके साथ ही पूर्व अध्यक्ष त्रिवेंद्र सिंह पंवार, हरिद्वार के मेयर मनोज गर्ग भी मौजूद रहे। जनकवि डाक्टर अतुल शर्मा ने वेद उनियाल के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है। सच में वेद उनियाल जी का जाना उत्तराखँड के लिए एक बड़ी क्षति है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्विटर पर लिखा है कि ‘उत्तराखंड आंदोलन से जुड़े श्री वेद उनियाल जी के देहांत का दुखद समाचार मिला; दिवंगत आत्मा को मेरी श्रद्धांजली और परिजनों के साथ संवेदनाएँ।‘ इस वक्त हम भी ये ही कहेंगे कि भगवान वेद उनियाल जी की आत्मा को शांति प्रदान करें।। ऊं शांति।।



Uttarakhand News: ved uniyal passed away

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें