उत्तराखंड के लापरवाह अधिकारी सावधान, सीएम त्रिवेंद्र ने किया है बड़ा ऐलान

उत्तराखंड के लापरवाह अधिकारी सावधान, सीएम त्रिवेंद्र ने किया है बड़ा ऐलान

Cm trivendra rawat new announcement - उत्तराखंड न्यूज, uttarakhand news, त्रिवेंद्र सिंहउत्तराखंड,

उत्तराखंड की जनता के लिए सरकार ने नई तैयारी की है, जो लग रहा है कि काम भी कर रही है। दरअसल सीएम त्रिवेंद्र रावत ने जनता दर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस के दौरान सीएम त्रिवेंद्र ने लोगों की समस्याएं सुनी। इसके साथ ही सीएम त्रिवेंद्र रावत ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि, जनता की समस्याओँ का जल्द से जल्द समाधान किया जाए। इसके साथ ही मुख्यमंत्री अधिकारियों को कड़े शब्दों में कहा है कि अधिकारी सिर्फ जनताओं की समस्याओं का सुनने भर से अपनी ड्यूटी खत्म ना समझें। उन्होंने कहा है कि जनता की समस्याओं का समाधान टाइम के हिसाब से तय किया जाए। कुल मिलाकर कहें तो अब ऐसे अधिकारियों पर गाज गिर सकती है जो काम ना करने के सौ बहाने ढूंढने लगते हैं। ऐसे अधिकारियों पर अब सरकारी कार्रवाई भी हो सकती है। इससे पहले जनता ने कई बार सरकार से शिकायत की थी कि अधिकारी उनकी समस्याओं पर किसी भी तरह का ध्यान नहीं देते।

सीएम त्रिवेंद्र ने जनता की समस्याओं को सुना और इसके साथ ही इसके लिए त्वरित कार्रवाई के निर्देश दे दिए हैं। इससे पहले हमने आपको बताया था कि मंत्री धन सिंह रावत ने भी उत्तराखंड के लिए बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अब आम लोगों का यात्रा में वक्त बर्बाद नहीं होगा। धन सिंह रावत ने कहा कि बागेश्वर होते हुए बद्रीनाथ-केदारनाथ और हरिद्वार तक जल्द ही रेलवे लाइन बिछाने का काम शुरू होने जा रहा है। इसके लिए केंद्र ने 48 हजार करोड़ रुपये का बजट जारी कर दिया है। धन सिंह रावत ने इसके साथ ही कहा कि 2021 तक हर गरीब के पास अपना घर होने का सपना पूरा हो सकेगा। रावत ने कहा है कि लोगों का घर का सपना 2021 तक हर हाल में पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि मेधावी छात्रों को आगे बढ़ाए जाने के लिए सुपर थर्टी के नाम से योजना चलाई जा रही है। इसके साथ ही मंत्री ने कहा कि इस योजना में एक करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस बार भी अल्मोड़ा से 21 छात्रों का चयन आइआइटी परीक्षा में हुआ है।

धन सिंह रावत कहा कि सरकार ऐसे छात्रों को फ्री कोचिंग की व्यवस्था देगी।इसके अलावा कई छात्रों को को पीएचडी की पढ़ाई निशुल्क दी जाएगी। इसके अलावा रावत ने अपने संबोधन में गंगा की तरफ भी ध्यान दिया। उन्होंने बताया कि पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी योजना नमामि गंगे में 22 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसके बाद गंगा नदी अपने पुराने अस्तित्व को प्राप्त कर सकेगी। उन्होंने् बताया कि इस योजना में अलग अलग शहरों से होकर जा रही गंगा नदी पर 52 हजार घाटों का निर्माण कराया जा रहा है। इसके बाद गंगा आचमन के योग्य हो सकेगी। उन्होंने बताया कि ऑल वेदर रोड प्लान तहत जिले में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। ऑल वेदर रोड के लिए 12 हजार करोड़ रुपये का बजट जारी किया गया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत भी अब एक्शन में हैं। उन्होंने अधिकारियों से साफ कह दिया है कि जनता के कामों की तरफ ध्यान नहीं दिया तो बड़ी कार्रवाई हो सकती है।


Uttarakhand News: Cm trivendra rawat new announcement

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें